घंसौर में थमे वाहनों के पहिये

 

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। छोटे और बिना परमिट चलने वाले वाहनों की धमाचौकड़ी से परेशान होकर यात्री बस संचालकों ने वाहनों के पहिये थाम दिये।

जिले में सफर करना किसी मुसीबत से कम नहीं है। खासकर ग्रामीण इलाकों में वाहनों की धमाचौकड़ी लोगों को परेशान करती है। घंसौर क्षेत्र में भी कुछ ऐसा ही आलम है। यहाँ पर यात्री बस संचालक छोटे वाहनों टैक्सियों आदि से परेशान हैं। इसके साथ ही ये छोटे वाहन जान हथेली पर रखकर लोगों को सफर करवाते हैं। ऐसे में घंसौर में बस संचालकों ने गुरुवार से अपनी बसों को खड़ा कर दिया है। बताया गया है कि इस मामले में इन वाहन चालकों पर कार्यवाही की माँग को लेकर ज्ञापन सौंपा जायेगा।

गाली गलौज करते हैं टैक्सी चालक : घंसौर में बसों के चालक – परिचालकों का कहना है कि छोटे वाहनों के चालक उनके साथ सवारियों को लेकर अक्सर अभद्रता करते हैं। इसके साथ ही एक-एक सवारी को लेकर वे बहस करते हैं। इन वाहनों की गति भी काफी अधिक रहती है। वे बसों के आगे – आगे टैक्सी दौड़ाते हैं।

उन्होंने बताया कि इन पर न तो पुलिस और न ही परिवहन विभाग किसी तरह की कार्यवाही करता है जिसका परिणाम कई बार हादसों की शक्ल में सामने आता है। घंसौर से मण्डला, लखनादौन, जबलपुर, केदारपुर, सिवनी आदि के लिये बसों का संचालन किया जाता है। गुरुवार से इन सभी रूटों पर जाने वाली यात्री बसों के पहिये थम गये। बस संचालक इन अवैध वाहनों पर शीघ्र और सख्त कार्यवाही की माँग कर रहे हैं।