खाद्य विभाग की छापेमारी है जारी

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिला कलेक्टर के आदेश के अनुसार एसडीएम लखनादौन राजस्व विभाग, पुलिस विभाग एवं खाद्य एवं औषधि प्रशासन सिवनी के खाद्य सुरक्षा अधिकारीगण के संयुक्त दल द्वारा 02 अगस्त को भी कार्यवाही की गयी।

इस दौरान छपारा स्थित वैशाली राजपुरोहित स्वीट्स से बूंदी के लड्डू एवं पेड़ा के नमूने लिये गये साथ ही प्रतिष्ठान में स्थित दूषित खाद्य तेल का विनिष्टीकरण करवाया गया। बीकानेर स्वीट्स से दूध का नमूना लिया गया है जिन्हें जाँच हेतु राज्य प्रयोगशाला भोपाल की ओर भेजा जायेगा। इनकी विश्लेषण रिपोर्ट प्राप्ति उपरांत अग्रिम कार्यवाही की जायेगी।

निरीक्षण के दौरान नमूना कार्यवाही के साथ दल द्वारा दूषित खाद्य पदार्थों का मौके पर विनिष्टीकरण करवाया गया। परिसर में पायी गयीं कमियों के संबंध में खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 की धारा 32 के अंतर्गत नोटिस संबंधित प्रतिष्ठान को जारी किये जा रहे हैं जिसका अनुपालन न करने की स्थिति में संबंधित का पंजीयन निलंबित करने की कार्यवाही की जायेगी।

इसी के साथ ही खाद्य विभाग के अन्य जाँच दल द्वारा सिवनी के लूघरवाड़ा स्थित डॉल्सन रेस्टॉरेंट का निरीक्षण कर खाना बनाने में उपयोग होने वाले आटे का नमूना लिया गया है। कार्यालय खाद्य एवं औषधि प्रशासन में 20 जून से 05 जुलाई तक लिये गये नमूनों की जाँच रिपोर्ट भोपाल से प्राप्त हुई है जिनमें से नितिन सनोडिया दूध डेयरी कटंगी रोड सिवनी एवं सुरभि दुग्ध भण्डार परतापुर रोड भैरोगंज से लिये गये दूध के नमूने अमानक पाये गये हैं, इनमें पानी की मिलावट पायी गयी है।

इसी के साथ ही देव किराना एवं जनरल स्टोर्स लखनादौन से लिया गया ओम मखाना का नमूना लेबल पर त्रुटिपूर्ण जानकारी अंकित होने के कारण मिथ्याछाप घोषित किया गया है। उक्त तीनों प्रकरणों में संबंधित को धारा 46(4) के अंतर्गत नोटिस जारी कर जाँच रिपार्ट के विरुद्ध अपील हेतु समय दिया गया है, तत्पश्चात न्यायालयीन कार्यवाही की जायेगी।