कहाँ गया अतिक्रमण विरोधी अभियान!

 

 

सवा महीने बाद भी कार्यवाही सिफर!

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। सिवनी शहर में अतिक्रमण हटाये जाने वाले अभियान में 27 जून को नोटिस जारी किये जाने के बाद यह अभियान ठण्डे बस्ते के हवाले कर दिया गया है। लोगों का कहना है कि इसके पहले भी नगर पालिका के द्वारा इस तरह की गीदड़ भभकी दी गयी थी, पर कार्यवाही कभी भी नहीं की गयी।

लोगों का कहना है कि शहर में अतिक्रमण मुँह बाए खड़ा है। ज्यादा चीख पुकार मचने पर भाजपा शासित नगर पालिका के द्वारा किसी एक सड़क पर अतिक्रमण करने वालों को नोटिस जारी कर अपने कर्त्तव्यों की इतिश्री कर ली जाती है। वहीं, विपक्ष में बैठी काँग्रेस के भिंचे जबड़े कभी भी खुल नहीं पाते हैं।

लोगों का कहना है कि इच्छा शक्ति के अभाव में शहर में अतिक्रमण सुरसा के मुँह की तरह ही दिख रहा है। कुछ कुछ समय के अंतराल पर नगर पालिका के द्वारा शहर को अतिक्रमण मुक्त करने के लिये कमर कसी जाती है पर नोटिस जारी करने की औपचारिकता के बाद कार्यवाही को थाम दिया जाता है।

नगर पालिका के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि 25 जून को प्रशासन की बैठक में शहर में यातायात को व्यवस्थित करने के लिये अतिक्रमण हटाये जाने की मुहिम चलाये जाने के निर्देश दिये गये थे। इसके उपरांत 27 जून को नेहरू रोड में नाप जोख कर निशान लगाये गये थे। इस कार्यवाही के बाद इस मुहिम को थाम दिया गया है।

सूत्रों का कहना है कि जिलाधिकारी प्रवीण सिंह के द्वारा शहर की यातायात व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने के लिये संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये गये थे, पर अधिकारियों के द्वारा जिलाधिकारी के निर्देशों को ही हवा में उड़ा दिया गया है।

ज्ञातव्य है कि तीन साल पहले भी इस तरह की मुहिम ज्यारत नाके से आरंभ करवायी गयी थी। उस समय प्रदेश में भाजपा सत्तारूढ़ हुआ करती थी। दो दिन तक गरीब गुरबों के अतिक्रमण को ध्वस्त करने के उपरांत जैसे ही भाजपा के तत्कालीन जिलाध्यक्ष वेद सिंह ठाकुर के प्रतिष्ठान के पास अमला पहुँचा तो जेसीबी के पंजे कांपते दिखायी देने लगे थे।

आज भी कई स्थानों पर तीन साल पहले लगाये गये लाल निशान इस बात की चुगली करते दिखते हैं कि पालिका के द्वारा शहर को अतिक्रमण मुक्त करने की कार्यवाही को किस संजीदगी के साथ अमली जामा पहनाया जा रहा है।

3 thoughts on “कहाँ गया अतिक्रमण विरोधी अभियान!

  1. Pingback: topcareroofing.net

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *