दीवानी एवं शमनीय आपराधिक मामले होंगे हल

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नयी दिल्ली के निर्देश के अनुसार प्रदेश में नेशनल लोक अदालत का आयोजन शनिवार 14 सितंबर को किया जायेगा।

इसमें दीवानी एवं आपराधिक शमनीय मामलों सहित सभी प्रकार के मामले रखे जायेंगे, जिनमें पक्षकार सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में आपसी सुलह एवं सहमति से प्रकरणों का निराकरण कराने के लिये प्रयास कर सकेंगे। नेशनल लोक अदालत उच्च न्यायालय से लेकर जिला न्यायालयों और तालुका न्यायालयों, श्रम न्यायालयों, कुटुम्ब न्यायालयों में आयोजित की जायेगी।

इस नेशनल लोक अदालत के लिये राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा केटेगिरी वाइज चिन्हित किये गये विभिन्न न्यायालयों में रखे जाने वाले लंबित एवं प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में न्यायालयों में रखे जाने वाले लंबित प्रकरणों में आपराधिक शमनीय प्रकरणए पराक्राम्य अधिनियम की धारा 138 अन्तर्गत प्रकरण, बैंक रिकवरी संबंधी मामले शामिल हैं।

इसके अलावा एमएसीटी प्रकरण मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरण, श्रम विवाद प्रकरण, विद्युत एवं जल कर व बिल संबंधी सिर्फ शमनीय प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण, भूमि अधिग्रहण के प्रकरण, सेवा मामले जो सेवा निवृत्त संबंधी लाभों से संबंधित हैं, राजस्व प्रकरण सिर्फ जिला व उच्च न्यायालयों में लंबित, दीवानी इत्यादि मामले महत्वपूर्ण है।

इसके अलावा प्रीलिटिगेशन मुकदमा पूर्व के अंतर्गत पराक्राम्य अधिनियम की धारा 138 के अंतर्गत प्रकरण, बैंक रिकवरी संबंधी मामले, श्रम विवाद संबंधी मामले, विद्युत एवं जल कर व बिल संबंधी सिर्फ शमनीय प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण, दीवानी इत्यादि मामले महत्वपूर्ण हैं।

आमजन व पक्षकारगण से अपील की गयी है कि वे अपने न्यायालय में लंबित एवं मुकदमेबाजी के पूर्व प्रीलिटिगेशन प्रकरण चिन्हित किये गये प्रकरणों व विवादों का उचित समाधान कर आपसी सहमति से लोक अदालत में निराकरण कराना चाहते हैं, वे संबंधित न्यायालय अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण या उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति से संपर्क कर अपना मामला नेशनल लोक अदालत में रखे जाने के लिये अपनी सहमति व आवश्यक कार्यवाही यथाशीघ्र पूर्ण करायें और नेशनल लोक अदालत में अधिक से अधिक संख्या में भाग लें।

21 thoughts on “दीवानी एवं शमनीय आपराधिक मामले होंगे हल

  1. To bin and we all other the previous ventricular that corrupt palpable cialis online from muscles still with soundless vital them and it is more run-of-the-mill histology in and a crate and in there rather serviceable and they don’t even termination you are highest dupe off on the international. viagra reviews viagra cheap

  2. Pingback: fun88

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *