पहली बार सावन में लगी झड़ी!

 

 

नदी नाले उफान पर, आवागमन हो रहा बाधित

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। लंबे इंतजार के बाद सावन माह के अंतिम दौर में ही सही, ब्रहस्पतिवार 08 अगस्त को दिन भर पानी गिरता रहा। लोगों ने सावन की झड़ी का जमकर आनंद लिया। वहीं नदी नाले उफान पर आ रहे हैं। शुक्रवार 09 अगस्त को भी मौसम का मिजाज इसी तरह रहने की उम्मीद है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुण्य सलिला बैनगंगा सहित सागर, नेवरी नदी भी उफान पर चल रही है। इन नदियों में बहता पानी लोगों को रोमांचित भी कर रहा है। ब्रहस्पतिवार को अनेक लोग लखनवाड़ा घाट पर बैनगंगा नदी का वेग देखने पहुँचे। लगातार पानी गिरने से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गयी है।

बंद हुआ पलारी कहानी मार्ग : पलारी से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया ब्यूरो ने बताया कि खैरा पलारी क्षेत्र में सागर नदी भी उफान पर आ गयी। पलारी से कहानी मार्ग पर रपटे के उपर से पानी जाने से रास्ता बंद हो गया। लोग दो किलो मीटर दूर बने बड़े पुल की ओर से जा रहे हैं। गुरुवार सुबह लगभग साढ़े 10 बजे से इन पंक्तियों के लिखे जाने तक यह रास्ता बंद है। इसी प्रकार देवघाट से मझगंवा पर बैनगंगा नदी भी उफान पर है। रास्ते बंद होने के कारण लोगों को दिक्कतें हो रही हैं। सबसे ज्यादा स्कूली विद्यार्थियों को हो रही है जहाँ वे स्कूल नहीं पहुँच पाये।

मोहगाँव खवासा रोड के बुरे हाल : बारिश के मौसम में मोहगाँव से खवासा मार्ग की स्थिति भी दयनीय ही प्रतीत हो रही है। बारिश पूर्व इस सड़क का संधारण उचित तरीके से न किये जाने के कारण आये दिन यहाँ जाम भी लग रहा है।

बादलपार क्षेत्र में भी उफना रहे नाले : बादलपार क्षेत्र में भी नदी नाले उफान पर हैं। लगातार बारिश के कारण मोहगाँव तीतरी के पुल के ऊपर से पानी गुजरने से दोनों ओर का आवागमन बंद हो गया। इसके चलते कई विद्यार्थी स्कूल नहीं पहुँच पाये। यहाँ से पतरई, ढुटेरा, सिंदरिया, पांजरा सहित अन्य गाँव के लोगों को दिक्कतें हुई। आवश्यक काम निपटाने वाले लोग विजयपानी और परासपानी के बड़े पुलों से होकर निकले लेकिन उसके लिये अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ी।

4 thoughts on “पहली बार सावन में लगी झड़ी!

  1. Pingback: 안전놀이터

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *