भोज विश्‍वविद्यालय के 186 अध्ययन केंद्र अब कॉलेजों में खोले जाएंगे

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। प्रदेश भर के स्कूलों में संचालित भोज मुक्त विश्वविद्यालय के अध्ययन केंद्र अब कॉलेजों से संचालित होंगे। विवि स्कूलों में चल रहे 186 अध्ययन केंद्रों को बंद कर देगा। भोज विवि जल्द ही कॉलेजों के साथ एमओयू करने जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक स्कूलों में चल रहे अध्ययन केंद्रों पर विद्यार्थियों के लिए ठीक से शिक्षण व्यवस्था नहीं होने के कारण विवि ने इसे बंद करने का फैसला किया। वहीं कॉलेजों में अध्ययन केंद्र चलने से विद्यार्थियों को प्रोफेसर पढ़ा सकेंगे।

इस संबंध में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा गठित समिति ने 25 मई को निजी और सरकारी कॉलेजों में अध्ययन केंद्र खोलने के निर्देश दिए थे। ज्ञात हो कि प्रदेश भर में भोज विवि के 264 अध्ययन केंद्र स्कूलों में स्थापित हैं।

कॉलेजों के प्रोफेसर विद्यार्थियों को पढ़ाएंगे

कॉलेजों में खोले गए अध्ययन केंद्रों पर वहीं के प्रोफेसर्स विद्यार्थियों को पढ़ाएंगे। साथ ही अध्ययन केंद्रों पर ही रजिस्ट्रेशन, परीक्षा केंद्र, असाइनमेंट, दस्तावेज सत्यापन आदि विवि से संबंधित विद्यार्थियों के सभी कार्य होंगे। अभी तक स्कूलों के शिक्षक विद्यार्थियों को पढ़ाते थे, इससे विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाती थी।

कॉलेजों में अध्ययन केंद्र संचालित होने से प्रदेश भर में विवि के डेढ़ लाख विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। स्कूलों में अध्ययन केंद्र संचालित होने से विद्यार्थियों को स्कूली शिक्षक पढ़ाते थे, लेकिन अब कॉलेज के प्रोफेसर पढ़ाएंगे।

प्रो. जयंत सोनवलकर,

कुलपति, भोज विवि