मानसून में होने वाली आम बीमारियां

 

 

मानसून के मौसम का इंतजार हर किसी को बेसब्री से होता है, ऐसा इसलिए क्योंकि इस मौसम में बारिश होने पर समोसे खाने और चाय पीने का मजा ही कुछ और है। ऐसे में बारिश की बूंदों की थपकी हर किसी को भाती है लेकिन घर के बाहर पैर रखते ही कीचड़, जाम और नालों के जाम होने की वजह से हर किसी का दिमाग खराब हो जाता है। इतना ही नहीं बारिश के मौसम में बीमारियों के होने का भी खतरा बना रहता है। आइए आपको बताते हैं कि मानसून के मौसम में आपको कौन कौन सी बीमारियां हो सकती हैं।

मलेरिया

मानसून के मौसम में मलेरिया की शिकायत अक्सर आती रहती हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि बारिश की वजह से सड़कों या नालों में जमे हुए पानी में मच्छर पनपते रहते हैं, जिनमें से कुछ मलेरिया के मच्छर भी होते हैं, ऐसे में आपको अपनी पानी की टंकी को साफ करते रहना चाहिए। इतना ही नहीं आस पास अगर किसी तरह का पानी इकट्ठा हुआ हो तो उसे भी फेंक देना चाहिए। बुखार, मांसपेशियों में दर्द और कंपकंपाना मलेरिया के लक्षण होते हैं।

डेंगू

डेंगू का मच्छर नालियों में ही नहीं साफ पानी में भी पैदा हो सकता है, इसलिए पानी को हमेशा ढंक कर रखें और आस पास पानी इकट्ठा ना होने दें। डेंगू की बीमारी के लक्षण जोड़ों, शरीर में दर्द हो सकते हैं। ऐसे में आप पूरे कपड़े पहनकर ही रखें।

चिकनगुनिया

चिकनगुनिया मच्छरों के काटने से होता है। यह मच्छर रुके हुए पानी में प्रजनन करते हैं, और दिन में ही काटते हैं। चिकनगुनिया में आपको बुखार, जोड़ों में दर्द आदि लक्षण देखने को मिलता है। इसमें आप इंसेक्ट रिपेलेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

टायफायड

टायफायड एक ऐसी बीमारी हैं, जो पानी से पैदा होती हैं, अक्सर यह मानसून के दौरान होती हैं। यह दुषित पानी और खाने से फैलती है। इस बीमारी के लक्षण सर्दी, गले में खराश, बुखार आदि हो सकते हैं।

पीलिया

पीलिया दूषित पानी और भोजन खाने के कारण होता हैं, पीलिया के लक्षण पीला मूत्र, उल्टी, कमजोरी आदि होते हैं। ऐसे में आप उबला पानी पिएं और बाहर का खाना खाना बिल्कुल छोड़ दें।

(साई फीचर्स)

5 thoughts on “मानसून में होने वाली आम बीमारियां

  1. After going over a few of the articles on your site,
    I really appreciate your way of writing
    a blog. I bookmarked it to my bookmark website list and will be checking back in the near future.
    Please check out my website too and let me know how you feel.

  2. A person necessarily help to make critically articles I would
    state. That is the first time I frequented your web page and thus far?
    I surprised with the research you made to
    create this actual put up amazing. Wonderful
    job!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *