मोहगाँव खवासा सड़क के डायवर्शन बने नासूर

 

 

दिन में फिर लगा जाम, बार-बार जाम से परेशान हैं लोग

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। मोहगाँव से खवासा के बीच हो रहे फोरलेन के काम के चलते सिवनी से नागपुर आने जाने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के दिनों में यह सड़क बार – बार बंद हो जाती है। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस के आने के पहले इस सड़क को प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा आनन – फानन खुलवाया गया।

एनएचएआई के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि दरअसल, सिवनी में एनएचएआई का परियोजना निदेशक कार्यालय न होने के कारण सिवनी में होने वाले कामों का अधीक्षण ही नहीं हो पा रहा है। सूत्रों ने कहा कि मोहगाँव से खवासा के बीच हो रहे मार्ग निर्माण के लिये कंपनी के द्वारा एनएचएआई के साथ किये गये अनुबंध में इस बात का साफ उल्लेख किया गया है कि ठेकेदार को मार्ग निर्माण के दौरान सड़क को मोटरेबल बनाये रखना पहली प्राथमिकता होगी।

सूत्रों ने बताया कि जिस दिन से मोहगाँव से खवासा सड़क का निर्माण आरंभ हुआ है उसके बाद से लगभग एक दिन की आड़ में ही यहाँ जाम लग रहा है। सूत्रों ने कहा कि इस बात की जानकारी जिला प्रशासन को होने के बाद भी जिला प्रशासन के द्वारा अब तक एनएचएआई के परियोजना निदेशक से सड़क निर्माण में अनुबंध की शर्तों के उल्लंघन के मामले में किसी तरह का पत्राचार नहीं किया गया है।

बताया जाता है कि 14 अगस्त को यहाँ जाम लग गया था। इस जाम में राखी मनाने आने जाने वाले यात्री भी फंसे रहे। अनेक लोगों की राखी और स्वाधीनता दिवस भी जाम में ही बीत गया। नागपुर में माननीय उच्च न्यायालय के एक कार्यक्रम में देश भर के अनेक माननीय न्यायधीश नागपुर में एकत्र हो रहे थे।

बताया जाता है कि शुक्रवार को माननीय उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश सड़क मार्ग से नागपुर जा रहे थे। इस दौरान लगे जाम को देखकर अफसरों की सांसें फूलती नज़र आ रही थीं। बाद में युद्ध स्तर पर इस जाम को खुलवाने के प्रयास किये गये। शनिवार को एक बार फिर दिन में इस सड़क पर जाम लग गया था।

बताया जाता है कि एक ट्राला, डायवर्शन में गड्ढों में उछलकर बीच से दो टुकड़े हो गया था। इस ट्राले को दोनों ओर से क्रेन से खिंचवाकर किनारे किया गया तब जाकर जाम खुल सका। लोगों का कहना है कि जिला प्रशासन को चाहिये कि एनएचएआई के अधिकारियों को बुलाकर इस मार्ग में आने वाले समय में जाम न लगे इस बारे में ठोस निर्देश दिये जाने चाहिये।

डायवर्शन हैं नियम विपरीत : सूत्रों का कहना है कि इस सड़क के निर्माण के दौरान बनाये गये विचलन मार्ग (डायवर्शन) नियमों के अनुरूप नहीं बनाये जाने के कारण आये दिन यहाँ जाम लग रहा है। इसके लिये एनएचएआई के अधिकारी और कंसल्टेंट की भूमिका भी संदिग्ध ही मानी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *