हंसी-मजाक में ‘जबरिया जोड़ी ‘ने दिखाया ‘गंभीर’ मुद्दा

 

 

 

 

 

सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणीति चोपड़ा की फिल्म जबरिया जोड़ी शुक्रवार को रिलीज हो गई है। इस फिल्म के जरिए दोनों दूसरी बार साथ काम कर रहे हैं। जबरिया जोड़ी की बात करें तो ये फिल्म बिहार और उत्तर प्रदेश में होने वाले पकड़वा विवाह पर आधारित है। 

कहानी

हार के एक दबंग हुकुम सिंह (जावेद जाफरी) जबरिया जोड़ी का माफिया चलाते हैं और उसके मुताबिक यह एक समाज सेवा है जिससे दहेज से बचा जा सकता है। उसके इसी धंधे में ना चाहते हुए भी उसका बेटा अभय सिंह (सिद्धार्थ मल्होत्रा) भी आता है। इसी बीच अभय की मुलाकात होती है बबली यादव (परिणीति चोपड़ा) से जो एक मध्यम वर्गीय परिवार की बेटी है मगर स्वभाव से दबंग है। इन दोनों की मुलाकात एक शादी के दौरान होती है और बबली अभय से प्यार कर बैठती हैं। इसके बाद कुछ ऐसा होता है कि पूरी कहानी में ट्विस्ट आ जाता है।  

रिव्यू

फिल्म का पहला पार्ट काफी मजेदार है। जबरदस्त डायलॉग्स और कॉमेडी से जहां पहला पार्ट काफी इंट्रेस्टिंग था, वहीं दूसरा पार्ट थोड़ा फीका पड़ जाता है। दूसरे पार्ट में पहले पार्ट जितना कनेक्शन नहीं बन पाया। बीच-बीच में फिल्म थोड़ी समझ से बाहर हो रही थी जिससे जो मजा पहले पार्ट को देखकर आ रहा था, वैसे दूसरे पार्ट में नहीं मिला। फिल्म को काफी लंबा कर दिया गया है, जबकि इसे 2 घंटे में खत्म किया जा सकता था। सेकंड हाफ में ऐसे कई सीन्स थे, जो जबरदस्ती घुसाए हुए लगे।

एक्टिंग

दोनों की एक्टिंग की बात करें तो सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणीति चोपड़ा ने बिहारी चरित्र में खुद को ढालने की कोशिश की, लेकिन दोनों में वो फील नहीं आ रहा था। सपोर्टिंग कास्ट में अपारशक्ति खुराना, जावेद जाफरी, संजय मिश्रा, नीरज सूज जैसे कलाकारों ने अपना काम बखूबी किया। फिल्म के सपोर्टिंग स्टार्स अपने रोल को जस्टिफाई करने में कामयाब रहे।

(साई फीचर्स)