मनमोहन सिंह राजस्‍थान से राज्‍यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

जयपुर (साई)। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सोमवार को राजस्‍थान से राज्‍यसभा सदस्‍य चुन लिए गए। मनमोहन सिंह का चुनाव निर्विरोध हुआ है। चूंकि बीजेपी ने मनमोहन के खिलाफ कोई उम्‍मीदवार न उतारने का फैसला किया था इसलिए उम्‍मीदवारों के नाम वापस लेने की आखिरी तारीख बीतने के बाद उन्‍हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया।

राज्‍य के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने मनमोहन सिंह को राज्‍यसभा के लिए चुने जाने पर बधाई दी। कांग्रेस ने ट्वीट करके उनके निर्वाचित होने पर शुभकामनाएं दीं।

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, ‘मैं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी को राजस्‍थान से राज्‍यसभा के सदस्‍य के रूप में निर्विरोध चुने जाने पर बधाई देता हूं। डॉ. सिंह का चुना जाना पूरे राज्‍य के लिए गर्व की बात है। उनके व्‍यापक ज्ञान और समृद्ध अनुभव से राजस्‍थान की जनता को बहुत लाभ होगा।

कांग्रेस ने भी दी बधाई

इसी तरह कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल से उनके निर्वाचन का प्रमाणपत्र साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘हम पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को राजस्‍थान से राज्‍यसभा सदस्‍य चुने जाने पर बधाई देते हैं। उनके ज्ञान के भंडार, कर्तव्‍य निष्‍ठा और वर्षों के अनुभव से सभी को लाभ होगा।

निर्विरोध चुना जाना लगभग तय था

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का राजस्थान से राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुना जाना लगभग तय था। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा था कि बीजेपी राजस्थान से राज्यसभा सीट के उपचुनाव के लिए अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगी। राज्य विधानसभा का संख्या बल कांग्रेस के पक्ष में है। राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं। कांग्रेस के पास 100 विधायक हैं जबकि उसके गठबंधन सहयोगी राष्ट्रीय लोकदल का एक विधायक है। भारतीय जनता पार्टी के पास 72, बहुजन समाज पार्टी के पास छह, भारतीय ट्राइबल पार्टी, सीपीएम और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के पास दो- दो विधायक है। 13 निर्दलीय विधायक हैं तो दो सीट खाली हैं।