अरुण जेटली के परिवार को राहुल गांधी का पत्र

 

 

 

 

अब संसद में नहीं गूंजेगी आवाज, कमी जरूर खलेगी

(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली को याद किया। उन्होंने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की आवाज अब पवित्र संसद में नहीं गूंजेगी, लेकिन उनकी कमी हमेशा खलेगी। 66 वर्षीय जेटली का शनिवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया था। रविवार शाम निगमबोध घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

राहुल ने जेटली की पत्नी संगीता को भेजे शोक संदेश में कहा कि जेटली ने अपने चार दशक के शानदार करियर में राजनीति पर अमिट छाप छोड़ी है। उन्होंने अपने पत्र में कहा कि उनकी आवाज पवित्र संसद में नहीं गूंजेगी, लेकिन हमें हमेशा उनकी याद आएगी। उन्होंने उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि ईश्वर परिवार को इस मुश्किल समय से उबरने की ताकत और इस दुख को सहने की शक्ति दे।

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी जेटली के परिवार को शोक संदेश भेजा था। उन्होंने लिखा था कि जेटली के प्रशंसक और मित्र हर राजनीतिक दल में थे। सोनिया ने शनिवार को जेटली की पत्‍नी संगीता जेटली को शोक संदेश भेजकर शोक व्‍यक्‍त किया था।

अपने शोक संदेश में सोनिया गांधी ने कहा, ‘मुझे आपके पति अरुण जेटली जी के असामयिक निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ है। जेटली जी वह व्यक्ति थे जिनके दलगत राजनीति से इतर जीवन के हर तबके में मित्र और चाहने वाले थे।