सर्पदंश से हुई मौत

 

पंडा के पास ले गए थे परिजन!

(ब्यूरो कार्यालय)

धनौरा (साई)। सर्पदंश की स्थिति में पीड़ित को सीधे अस्पताल ले जाने के बजाए पंडा, गुनिया के पास ले जाना घातक हो सकता है। जागरूकता के अभाव में लोग आज भी अस्पताल के बजाए पंडा, गुनिया के पास सर्पदंश पीड़ित को ले जाते हैं। इसी तरह का एक मामला धनौरा क्षेत्र में प्रकाश में आया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार धनौरा क्षेत्र के सालीवाड़ा ग्राम निवासी दीपेश (25) शुक्ल संयम रात को घर में पलंग पर सो रहा था। अचानक ही उसे सोते समय सर्प ने काट लिया जिसके बाद दीपेश की हालत बिगडते देख परिजनो ने गांव में ही एक पण्डा के पास ले जाया गया।

बताया जाता है कि पण्डे के द्वारा झाड़फूंक किए जाने के बाद जब दीपेश की हालत में सुधार नहीं हुआ तो दीपेश के परिजन उसे धनौरा के अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस के द्वारा शव का पोस्ट मार्टम कराया जाकर शव को परिजनों को सौंप दिया है।