जारी हुआ 320 किलोमीटर तक अलर्ट, खुले बरगी बांध के गेट

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। मंडला और डिंडौरी जिले की बारिश के कारण बरगी बांध में पानी का प्रवाह बढ़ गया है। शनिवार को 5 गेटों से पानी छोड़ा जा रहा था, लेकिन पानी की आवक बढ़ने से रविवार की सुबह 6 गेट और खोल दिए गए। बावजूद इसके जलस्तर नियंत्रित नहीं हुआ। इसके बाद शाम 5 बजे 4 गेट और खोल दिए।

इस प्रकार अब कुल 15 गेटों से पानी छोड़ा जा रहा है। सभी गेटों को एक-एक मीटर ऊंचाई तक खोले जाने से नर्मदा नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है। बांध में 89 हजार 700 क्यूसेक पानी प्रवेश कर रहा है और इतनी ही मात्रा ही गेट से पानी छोड़ा जा रहा है। वर्तमान में बांध का जलस्तर 422.70 मीटर बना हुआ है। इस सीजन का यह अधिकतम जलस्तर है।

320 किलोमीटर तक अलर्ट

बरगी बांध से पानी छूटने के बाद जबलपुर से लेकर होशंगाबाद तक लगभग 320 किमी में नर्मदा में जलस्तर बढ़ जाता है। इसलिए बांध प्रबंधन द्वारा इस दूरी के बीच आने वाले सभी गांवों और तटीय शहरों में अलर्ट जारी किया गया है।

ग्वारीघाट, तिलवारा घाट, लम्हेटाघाट, भेड़ाघाट सहित अन्य घाटों में रात 8 बजे तक पानी चढ़ गया था। स्थानीय पुलिस प्रशासन और होमगार्ड सैनिकों की तैनाती भी इन घाटों पर की गई है। इसके अलावा सहायक नदियों का जलस्तर भी बढ़ गया है। नर्मदा में पानी बढ़ने का सीधा असर सहायक नदियों में देखने मिलता है।