गंगा नदी में प्रवाहित की गईं अरुण जेटली की अस्थियां

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

हरिद्वार (साई)। देश के पूर्व वित्तमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली की अस्थियों को सोमवार को हरिद्वार में विसर्जित कर दिया गया। अरुण जेटली के बेटे रोहन ने उनकी अस्थियां गंगा नदी में प्रवाहित कर दीं।

दो दिन पूर्व 24 अगस्त को राजधानी दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस लेने वाले अरुण जेटली पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं। रविवार को निगमबोध घाट पर जेटली का अंतिम संस्कार किया गया। उनके बेटे रोहन ने उन्हें मुखाग्नि दी। इसके बाद सोमवार को दिवंगत नेता की अस्थियों को सोमवार को हरिद्वार में गंगा नदी में प्रवाहित कर दिया गया।

अस्थि कलश के प्रवाहित किए जाने के दौरान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल, बाबा रामदेव सहित अन्य नेता भी मौजूद रहे। गौरतलब है कि 66 वर्षीय जेटली का शनिवार को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में इलाज के दौरान निधन हो गया था। उन्हें 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था।