सड़क पर गिरे पत्थर, लगा जाम

 

 

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। सफर को सुहाना और सहज बनाने की गरज से बनाई गई फोरलेन अब लोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है। छपारा से गणेशगंज के बीच हाल ही में बनाई गई फोरेलन सड़क पर आए दिन व्यवधान उत्पन्न होने से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नागपुर से सिवनी होकर जबलपुर जाने वाले यात्रियों का सफर अब लोगों के लिए कठिनाई भरा हो गया है। सिवनी से जबलपुर तक घुनई घाटी व धूमा बंजारी घाटी में आए दिन बारिश के कारण पहाड़ का हिस्सा धंसककर हाइवे पर गिर रहा है। वहीं बड़े पेड़ भी बीच सड़क में गिरने से जाम लग रहा है।

इसके अलावा सिवनी से नागपुर जाने वाले मार्ग पर मोहगांव से खवासा के बीच हो रहे सड़क निर्माण के चलते जब चाहे तब जाम की स्थिति निर्मित हो रही है।

सोमवार को धूमा बंजारी घाटी में पहाड़ का हिस्सा व पेड़ सड़क पर गिर जाने से करीब तीन घंटे जाम लगा रहा। जाम में फसने से यात्री व मरीजों को हलाकान होना पड़ा। सुबह लगभग 09 बजे से लगा जाम दोपहर 12 बजे खुला। इसके बाद धीरे धीरे वाहनों का आवागमन शुरू हो सका। इस जाम में एक एंबूलेंस भी फंसी रही।

जानकारों का कहना है कि सड़क निर्माण के दौरान निर्माणकर्ता ठेकेदार के द्वारा असुरक्षित तरीके से पहाड़ी को काटा गया है। बरसात के मौसम में असुरिक्षत तरीके से काटी गई पहाड़ी में जब चाहे तब पत्थर गिरना आरंभ हो जाते हैं। लेण्ड स्लाईडिंग के कारण वाहन चालकों को दुर्घटना का खतरा बना रहा है।

नहीं लगा कोई चेतावनी बार्ड : इस सड़क का निर्माण करने वाले ठेकेदार पर कार्यवाही करने से कतराता भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) इस कदर उदासीनात्मक रवैया अपना रहा है कि उसके द्वारा जहां लैण्ड स्लाईडिंग की संभावनाएं हैं, वहां भी चेतावनी बोर्ड तक नहीं लगाए गए हैं।

लोगों ने जिला प्रशासन के ध्यानाकर्षण की जनापेक्षा करते हुए अपील की है कि जहां जहां ठेकेदार के द्वारा लापरवाही की गई है उन स्थानों को चिन्हिित किया जाकर ठेकेदार पर पेनाल्टी लगाई जाकर वहां चेतावनी बोर्ड लगवाए जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *