जल्दी ही बदलने वाला है आपका ड्राइविंग लाइसेंस

 

 

 

 

01 अक्टूबर से होने जा रहा है नया नियम लागू

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। टू-व्हीलर हो या फोर व्हीलर या फिर कोई अन्य वाहन भी चलाते समय ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कार्ड यानी आरसी रखना जरूरी होता है। लेकिन, जल्दी ही ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी को लेकर बड़ा बदलाव होने वाला है।

दरअसल, अब तक मध्य प्रदेश समेत देश के हर राज्य में ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी का फॉर्मेट अलग-अलग होता है। इसी वजह से हमें या जांच करता को कई बार ये कंफ्यूजन हो जाता है कि, दोनो में से लाइसेंस कौन सा है और आरसी कौनसा। इसके अलावा हर राज्य के नियमों के अनुसार, इनमें हर राज्य के हिसाब से अलग अलग नियम भी होते हैं। लेकिन, आने वाले समय इन नियमों में बदलाव होने जा रहा है।

सरकारी नोटिफिकेशन जारी : ज्ञातव्य है कि आगामी समय में केंद्र सरकार ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में बदलाव करने जा रही है। इस नए नियम को अक्टूबर महीने की पहली तारीख से देशभर में लागू कर दिया जाएगा। नए नियम के अनुसार, गाड़ी का ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कार्ड दोनों ही एक जैसे होने वाले हैं।

यानी अब आप मध्य प्रदेस से बाहर भी किसी राज्य में जाएंगे, तो आपके ड्राइविंग लाइसेंस का रंग एक ही तरह का मिलेगा। इसे लेकर सरकार द्वारा नोटिफिकेशन भी जारी किया जा चुका है, जिसके मुताबिक, डीएल और आरसी में जानकारियां एक समान और स्थान पर होंगी।

होगा ये खास बदलाव : एक खबर के मुताबिक, ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी का डिजाइन अब पूरे देश में एक जैसा होने जा रहा है। लाइसेंस और आरसी पर नियम भी सभी राज्यों में एक ही रहेंगे। यहां तक की उनकी प्रिंटिंग को भी एक समान रखा जाएगा। मध्य प्रदेश आरटीओ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि, सरकार द्वारा किया जा रहा नया बदलाव ट्रेफिक नियमों में मुस्तैदी लाने की एक कवायद है। इस पहल से लोगों में ट्रैफिक नियमों को लेकर जागरूक्ता बढ़ाने और ट्रैफिक नियमों को जानकर इसके महत्व को समझने में मदद मिलेगी। साथ ही, इसका उद्देश्य एक ही चीज़ में वाहन और चालक की जानकारी एकत्रित करना है।

एक क्लिक पर सामने होगा रिकॉर्ड : आगामी नियम को लेकर केन्द्र सरकार ने पिछले साल एक ड्राफ्ट नोटिफिकेशन जारी किया था। इस नोटिफिकेशन के माध्यम से सरकार ने देशकी जनता से इसपर विचार मांगा था। आम लोगों से मिले सुझावों के आधार पर ही सरकार ने ये फैसला लिया है।

नए नियम का एक उद्देश्य वाहन चालक, दस्तावेज और जांच कर्ता के समक्ष पार्दर्शिता बनी रहे। यानी एक ही कार्ड पर ग्राहक से जुड़ी सभी जानकारियां उपलब्ध होंगी, जिससे गाड़ी से संबंधिक सभी जानकारियां ड्राइविंग लाइसेंस या आरसी में माइक्रोचिप और क्यूआर कोड होंगे जिससे एक क्लिक पर पिछला रिकॉर्ड सामने होगा।