शिक्षक समाज की रीढ़ : पटेल

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। आज का दिन शिक्षकों और देश के भविष्य बनाने का दिन है, शिक्षक समाज की रीढ़ की हड्ड़ी हैं, उनका विद्यार्थियों के चरितार्थ निर्माण में बहुत बड़ा हाथ है जिससे विद्यार्थी देश के अच्छे नागरिक बन सकें।

उक्त उदगार शिक्षक दिवस के अवसर पर कन्या महाविद्यालय सिवनी में कार्यक्रम के दौरान प्राचार्य डॉ.अमिता पटेल ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि शिक्षक का स्थान माता, पिता से बढ़कर होता है। माता, पिता जन्म देते हैं लेकिन शिक्षक उन्हें सही सांचे में ढालकर उनका भविष्य उज्ज्वल बनाते हैं। शिक्षक हमेशा विद्यार्थियों को सफलता के रास्ते में आगे बढ़ाने के कोशिश करते है। यह प्रेरणादायी स्त्रोत होते हैं।

इस अवसर पर भारती सराठे, रूकैया अंजुम, आकांक्षा कुल्हाड़े, आरती साहू, रीना कुशवाहा, रश्मि सूर्यवंशी, खुशबू राकेश्वर, रीना डहेरिया, ममता भगत, मुस्कान चौहान, पुष्पा उसरेठे, तनिष्का नामदेव आदि ने डॉ.अर्चना चंदेल, कल्पना इंगले, डॉ.शाहेदा खान, श्री बघेल, शेषराव नावंगे, श्री नामदेव, पवन नाग, समिता शर्मा, फिरदोस खान, सकीना खान, अनीता भट्ट, अनीता कुल्हाड़े सहित समस्त स्टॉफ का सम्मान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *