गोविंद पानसरे मर्डर केस में 3 अन्य संदिग्‍ध धराए

 

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

मुंबई (साई)। कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के वरिष्ठ नेता गोविंद पानसरे की 2015 में हुई हत्या के संबंध में गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने शुक्रवार को तीन और संदिग्धों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार तीनों संदिग्धों की जानकारी देते हुए महाराष्ट्र पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि तीनों संदिग्ध – सचिन अंदुरे, अमित बड्डी और गणेश मिस्किन – विभिन्न मामलों में न्यायिक हिरासत के तहत मुंबई और पुणे की जेलों में बंद थे। अधिकारियों ने बताया कि राज्य सीआईडी की एसआईटी ने उन्हें पानसरे मामले में जेलों से औपचारिक तौर पर गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक, अंदुरे कथित रूप से एक निशानेबाज है, और वह नरेंद्र दाभोलकर मामले में पुणे की यरवदा जेल में बंद था। बड्डी और मिस्किन मुंबई की आर्थर रोड जेल में न्यायिक हिरासत में थे। बड्डी और मिस्किन कर्नाटक के गौरी लंकेश मामले में और महाराष्ट्र के नालासोपारा हथियार बरामदगी मामले में आरोपी हैं। पानसरे को 16 फरवरी 2015 को कोल्हापुर में गोली मार दी गई थी और उनकी 20 फरवरी को मौत हो गई।

नरेंद्र दाभोलकर की 2013 में हुई हत्या

इसके अलावा सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर की 20 अगस्त 2013 को पुणे में सुबह टहलने के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। गौरी लंकेश सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार थीं और उनकी बेंगलुरु में 5 सितंबर 2017 को उनके घर के सामने गोली मारकर हत्या की गई थी। सुरक्षा एजेंसियों को संदेह है कि इन तीनों हत्याओं के तार आपस में जुड़े हुए हैं और इनमें शामिल लोग अलग अलग नही हैं।