तालाब की पार में आयी दरार!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

किंदरई (साई)। भारी बारिश के चलते जिला मुख्यालय से लगभग 154 किलोमीटर दूर विकास खण्ड घंसौर के झिंझरई ग्राम के 200 साल पुराने विशाल तालाब की पार में दरार आ गयी है।

यह तालाब लोगों के लिये वरदान से कम नहीं माना जाता है। इस तालाब के माध्यम से लोगों के अलावा पशु पक्षियों के द्वारा भी अपनी प्यास बुझायी जाती है। इस तालाब की पार में बीते दिनों दरार देखी गयी।

ग्रामवासियों में शामिल समाजसेवी नारायण सिंह पटेल, सरपंच विद्याबाई, जानकी प्रसाद, उमेश, बलराम, राजेन्द्र सिंह, मोहन, पवित्र, घनश्याम, मुकुन्द, भागवत, गोविन्द, खूबचंद, सुद्दू आदि ने बताया कि तालाब की पार में दरार आने के साथ ही मेढ़ धंस गयी है। इसके कारण कभी भी इस तालाब के फूट जाने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता है। वहीं तालाब को क्षति पहुँचने से किसानों को भारी नुकसान होगा।

ग्रामीणों ने बताया कि जिला प्रशासन से कई वर्षों से तालाब के लिये जीर्णोंद्धार के लिये माँग की जाती रही है। वहीं ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर से माँग की है कि इस तालाब की मेढ़ और गहरीकारण के लिये 10 से 15 लाख रूपये की मदद उपलब्ध करवाकर तालाब का अस्तित्व को बचाया जाये ताकि भविष्य में ग्रामीणों को समस्याओं से न जूझना पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *