साल भर बाद भी नहीं बदला ट्रांसफॉर्मर

 

(ब्यूरो कार्यालय)

धूमा (साई)। बिजली विभाग के द्वारा एक साल बाद भी लखनादौन के नागनदेवरी 132 केव्ही उपकेंद्र में लगा 40 एमवीए पॉवर क्षमता वाला ट्रांसफॉर्मर नहीं बदला गया है। इससे किसानों को रबी सीजन में पानी सिंचाई व खेती किसानी के कामों में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।

पिछले साल 2018 में 40 एमबीए क्षमता वाला केंद्र का पॉवर ट्रांसफॉर्मर जल गया था। इसके बाद पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी ने अस्थायी व्यवस्था के तहत उपकेंद्र में 16 एमवीए क्षमता का पॉवर ट्रांसफॉर्मर लगा दिया था। कम क्षमता वाले इस ट्रांसफॉर्मर से लखनादौन डिवीजन के किसानों को बिजली आपूर्ति की जा रही है।

ट्रांसफॉर्मर की क्षमता कम होने के कारण किसानों को पर्याप्त वोल्टेज नहीं मिल रहा है। इसके कारण किसान खेती से जुड़े काम नहीं कर पा रहे हैं। पिछले साल इसी समस्या के चलते क्षेत्र के कई किसानों को रबी फसल में नुकसान उठाना पड़ा था। रबी सीजन नजदीक आ गया है। ऐसे में क्षेत्र के किसानों का कहना है कि ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा जल्द ही पर्याप्त क्षमता का पॉवर ट्रांसफॉर्मर उपकेंद्र में नहीं लगाया गया तो किसानों को एक बार फिर खेती में नुकसन उठाना पड़ेगा।

इस मामले में डिवीजनल इंजीनियर के अलावा सिवनी सर्किल के अधीक्षण यंत्री भी जबलपुर पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी को पत्र लिख चुके हैं। इसके बावजूद कंपनी द्वारा ट्रांसफॉर्मर की क्षमता बढ़ाने और उसे बदलने की कार्यवाही नहीं की गयी है। नाराज किसानों ने गत दिवस जबलपुर पहुँचकर कंपनी के कार्यालय को विधायक योगेंद्र सिंह व क्षेत्रीय सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते, अधिकारियों का अनुशंसा पत्र देकर इस मामले में कार्यवाही की माँग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *