अब नहीं चलेगी रीडिंग लेने वालों की मनमानी!

 

मनमानी रीडिंग भरी तो ऐप ट्रैक कर रीडर को पकड़ेगा

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। यदि सब कुछ ठीक रहा तो बिजली कंपनी से उपभोक्ताओं की अधिक बिल की शिकायत में जल्द ही कमी आयेगी। बिजली कंपनी के अनुसार ऐसा मीटर रीडर द्वारा सही रीडिंग नहीं किये जाने की वजह से इस तरह की स्थिति निर्मित होने की बात की जाती रही है।

ऐसी शिकायत मिल रही है कि रीडर मनमाना रीडिंग भर रहे हैं। ऐसे में एक ऐप लॉन्च किया गया है जो यह ट्रैक करेगा कि मीटर रीडर ने मौके पर पहुँचकर रीडिंग की है या नहीं। रीडर ने यदि बैठकर मनमानी रीडिंग भरी है तो हाईटेक ऐप उसे पकड़ लेगा। इसके बाद संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।

संबंधित को बाहर भी किया जा सकता है : मीटर रीडर जिस मोबाइल से फोटो लेते हैं उसमें जीपीएस ट्रेकिंग सिस्टम लगाया जाना है। यह कई जगह पर चल रहा है। सिवनी में भी इसकी शुरुआत की जानी है। इस सिस्टम को जीओ ट्रेकिंग का नाम दिया गया है। यह मीटर रीडर के मोबाइल में होगा।

स्पॉट बिलिंग की सुविधा : मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनी की तरह पूर्व क्षेत्र विद्युत कंपनी में भी ग्रामीण क्षेत्र के उपभोकताओं को स्पॉट बिलिंग की सुविधा दी जानी है। इसके लिये एक ऐप जारी किया गया है। इस ऐप में मीटर रीडर उपभोक्ता फोटो निकालकर मीटर की रीडिंग का डाटा संबंधित वितरण केंद्र पर पदस्थ अधिकारी द्वारा वेरीफिकेशन के बाद बिलिंग सिस्टम में प्रविष्टि कर बिलिंग की प्रक्रिया पूरी की जायेगी। इस प्रक्रिया में मानवीय हस्तक्षेप को न्यूनतम किया गया है। इससे बिलिंग का कार्य जल्द व शुद्धता से किया जा सकेगा।