संत समागम को लेकर कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा  : नाथ

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मंगलवार को राजधानी में साधु-संतों का संत समागम हुआ। मिंटो हॉल में महामंडलेश्वर कंप्यूटर बाबा की अगुवाई में आयोजित समागम में देशभर के साधु-संत शामिल हुए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ ही धर्मस्व मंत्री पीसी शर्मा, दिग्विजय सिंह सहित अन्य मंत्री शामिल हुए।

इस समागम में साधु-संतों के हितों व गाय की रक्षा, नदियों के संरक्षण, मंदिरों की भूमि का पट्टा, साधु-संतों को वृद्धावस्था पेंशन और मठ-मंदिरों में चल रहीं गोशालाओं का पंजीयन किए जाने पर विशेष रूप से चर्चा हुई। इस संबंध में मुख्यमंत्री कमलनाथ से कहा कि, जब हम व्यापारियों और उद्योगपतियों को पट्टा दे रहे हैं तो साधु-संतों को भी पट्टा देने में हमें कोई परेशानी नहीं।

इतना ही नहीं इस मौके पर सीएम कमलनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, “इस संत समागम को लेकर कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा है। कुछ लोग धर्म के ठेकेदार बनते हैं। लेकिन हम ऐसा नहीं करते हैं। उन्होंने कहा कि, धर्म के नाम पर बहुत घोटाले हुए। नर्मदा किनारे पेड़ लगाने के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार हुआ। इसकी जांच जरूर होगी। वहीं भारत की पहचान आध्यात्मिक शक्ति से है। लेकिन आज युवा वर्ग इससे कटा हुआ है। ऐसे में अब वक्त आ गया है कि युवाओं को इससे जोड़ा जाए और दुनिया को एक बार फिर भारत की आध्यात्मिक शक्ति से परिचय कराएं।”

अपनी अगुवाई में हुए संत समागम को लेकर कम्प्यूटर बाबा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री केवल घोषणाएं करते थे। जबकि आज सीएम कमलनाथ जो कहते हैं, वो करते हैं।

आयोजन की पूर्व संध्या पर कंप्यूटर बाबा की अगुवाई में मिंटो हाल में षठ्दर्शन संत समिति की बैठक हुई, जिसमें संत समागम की तैयारियों को लेकर विस्तार से चर्चा हुई। समिति के महासचिव स्वामी नवीनानंद सरस्वती ने बताया कि बैठक में पांच सूत्रीय प्रस्ताव पास किया गया। इसमें संतों की कुटिया, आश्रम, मंदिर व गोशालाओं का जो पांच साल से पुरानी हैं, उन्हें स्थाई पट्टा मिले, वृद्धावस्था पेंशन एवं स्वास्थ्य बीमा आयुष्मान कार्ड संतों के बनाए जाए। धर्म स्थलों एवं संतों द्वारा चलाई जा रही गो-शालाओं को अनुदान मिले। यह प्रस्ताव समागम में शामिल हुए मुख्यमंत्री को सौंपा गया। बैठक में समापन पर सभी संतों ने एक स्वर में कांग्रेस सरकार को पूर्ण सहयोग करने का जयघोष किया।

One thought on “संत समागम को लेकर कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा  : नाथ

  1. Pingback: w88

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *