परिवार परामर्श केंद्र में सुलझे तीन मामले

 

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। ससुराल वालों की प्रताड़ना के कारण एक महिला अपनी आगे की पढ़ाई नहीं कर पा रही थी। वहीं पति भी परेशान करने लगा। त्रस्त होकर महिला ने पुलिस से फरियाद लगाई। मामला परिवार परामर्श केंद्र पहुँचा। पति पत्नी के बीच पहले तो कहासुनी हुई।

परामर्शदाताओं की समझाइश के बाद पति ने कहा कि वह उसे आगे पढ़ाएगा। यह सुनते ही पत्नी के चेहरे की चमक बढ़ गयी। खुशनुमा माहौल में मामले का पटाक्षेप हो गया। धनौरा की रहने वाली सड़क मण्डला में हुआ। शादी के एक साल हो चुके हैं और एक बच्चा भी है।

महिला ने बताया कि वह बीए की पढ़ाई कर चुकी है। उसके अनुसार पति खेती करता है। ऐसे में वह खाली समय में पढ़ लेगी तो नौकरी लगने पर परिवार के सदस्यों को ही राहत मिलेगी। बच्चों व पति को भी सहयोग मिल सकेगा। लेकिन पति उसे आगे नही पढ़ाना चाहता था। इसी बात को लेकर विवाद होता था।

दूसरा मामला सिवनी से जुड़ा था। महिला ने बताया कि शादी के नौ साल हो गए और तीन बच्चे हैं। पति नगरपालिका में काम करता है लेकिन अधिक शराब पीकर परेशान करता है। भरण पोषण भी वह नहीं करता। परामर्शदाताओं ने काफी समझाया तब पति ने कहा कि वह पत्नी को खुश रखेगा। परामर्श केंद्र में नौ प्रकरणों में से तीन का निराकरण हो गया।

50 thoughts on “परिवार परामर्श केंद्र में सुलझे तीन मामले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *