मरे चूहे की वजह से सीएम येदियुरप्पा को बदलनी पड़ी मीटिंग की जगह

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

बंग्‍लुरू (साई)। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने सोमवार को मरे हुए चूहे की वजह से एक मीटिंग बीच में ही छोड़ दी। विधानसभा परिसर में ही होने वाली इस मीटिंग में सीएम येदियुरप्पा पहुंचे ही थे कि उन्हें मरे हुए चूहे जैसी बदबू आई। बदबू इतनी तेज थी कि उन्हें आनन-फानन में मीटिंग की जगह छोड़कर जाना पड़ा।

जानकारी के मुताबिक, विधानसभा के कमिटी रूप में सीएम येदियुरप्पा भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) के प्रतिनिधियों और फिर ईरान से आए एक डेलिगेशन से मिलने वाले थे। जैसे ही वह मीटिंग हॉल में घुसे उन्हें मरे हुए चूहे की बदबू आई। सूत्रों के मुताबिक, इसके बावजूद मीटिंग शुरू हुई। हालांकि, 5 मिनट में ही हालत यह हो गई कि सीएम ने अधिकारियों को बुलाया और उनसे कहा कि मीटिंग को उनके चेंबर में शिफ्ट कर दिया जाए।

हर साल 20 लाख रुपये खर्च करती है सरकार

इस तरह का यह पहला मामला है, जो दिखाता है कि सचिवालय में व्यवस्थाओं की हालत क्या है। विधानसभा और विकास सभा में सिर्फ पेस्ट कंट्रोल के लिए सरकार हर साल 20 लाख रुपये खर्च करती है, इसके बावजूद ऐसी चीजें सामने आ रही हैं। उसी मीटिंग हॉल में 15 मिनट पहले से बैठे बीएमएस सदस्यों ने बदबू आने की ना तो कोई शिकायत की थी और ना ही जगह बदलने की मांग की थी।

सीएम येदियुरप्पा ने इस लापरवाही के लिए अधिकारियों की क्लास भी लगाई। हालांकि, अधिकारियों ने यह कहकर खुद को बचाया कि बदबूदार चीज को वे इसलिए नहीं हटा पाए कि वह लकड़ी के फ्लोर के नीचे थी। जिसके लिए बढ़ई को बुलाना पड़ता।