आवारा मवेशियों पर पालिका का बस नहीं!

 

 

घरों में बंधे मवेशी ले जा रहे कांजी हाउस!

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। बाज़ार में मवेशियों की धमाचौकड़ी, सड़कों पर आवारा पशुओं का जमावड़ा, रिहायशी इलाकों से लेकर हाईवे पर भी मवेशी बैठे हैं। आवारा पशुओं को सड़कों से हटाने को लेकर दिया गया हाई कोर्ट का आदेश भी सिवनी में बेअसर ही साबित होता दिख रहा है।

आवारा साण्ड किसको मार दें, कहाँ सड़क पर बैठे मवेशी के कारण वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो जायें कोई भरोसा नहीं है। दूध निकालकर मवेशियों को खुले में छोड़ देने वाले असंवेदनशील पशु पालकों के आगे सभी जिम्मेदार बौने साबित होते दिख रहे हैं। ऐसे कारणों के चलते इस बात की पुष्टि होती दिख रही है की सिवनी में आवारा पशुओं के पैरों तले सिस्टम आ गया है।

लोगों ने बताया कि सिवनी शहर में आवारा मवेशी खुलेआम घूम रहे हैं। इन आवारा मवेशियों को पकड़ने के लिये पाबंद पालिका की हाका गैंग भी निष्क्रिय ही दिख रही है। इसके अलावा आवारा श्वानों ने लोगों की नाक में दम कर रखा है।

वहीं, पशु पालकों ने यह आरोप भी लगाया है कि नगर पालिका के द्वारा आवारा मवेशियों को पकड़ने में दिलचस्पी तो नहीं ली जा रही है, इससे उलट, पशु पालकों के घरो में बंधे मवेशियों को पालिका के द्वारा खोलकर कांजी हाउस ले जाया जा रहा है। हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी संतोष शर्मा ने बताया कि उनके मवेशी उनके घर के सामने बंधे रहते हैं। बीते दिनों पालिका के द्वारा उनके घर पर बंधे पशुओं को कांजी हाऊस में ले जाया गया था, जिसे उनके द्वारा छुड़वाकर लाया गया है।