क्या कोतवाली से निकल पायेंगी भारत माता!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। लगभग ढाई सालों से भारत माता की मूर्ति कोतवाली परिसर में रखी हुई है पर उन्हें छुड़ाने या उन्हें उचित स्थान पर स्थापित करवाने की दिशा में किसी के भी द्वारा पहल नहीं की जा रही है।

ज्ञातव्य है कि 13 अगस्त 2017 को उपनगरीय इलाके मरझोर में सरकारी भूमि पर लगी भारत माता की प्रतिमा को उठाकर कोतवाली पुलिस के द्वारा थाना प्रांगण में रख दिया गया है। इस प्रतिमा को वहाँ से उठाकर लाये जाते समय ट्रैक्टर की ट्रॉली पलट गयी थी, जिसके कारण भारत माता की प्रतिमा गिर भी गयी थी।

इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया व्हाट्सएप पर जमकर वायरल हुआ था। इसके लगभग ढाई साल बीत जाने के बाद भी चाल चरित्र और चेहरा का नारा देने वाली भारतीय जनता पार्टी, एक साल से सत्तारूढ़ हुई काँग्रेस, आम आदमी पार्टी सहित किसी भी दल के नेता यहाँ तक कि गैर राजनैतिक संगठनों के द्वारा भी इस मामले में रहस्यमयी चुप्पी साधकर रखी गयी है, जिसको लेकर शहर में तरह – तरह की चर्चाओं का बाजार गर्मा गया है।

चर्चाओं के अनुसार जिस देश में आरोपी को भी चौबीस घण्टों में न्यायालय में पेश कर दिया जाता है वहाँ महीनों बाद भी भारत माता को पुलिस की कस्टडी से कौन निकाले.. इस बात पर शोध होना चाहिये। चर्चाओं के अनुसार भारत माता की प्रतिमा को या तो कलेक्टर कार्यालय प्रांगण अथवा सर्किट हाउस के विशालकाय प्रांगण में प्रतिमा की स्थापना करवाने वालों की सहमति के बाद स्थापित कर दिया जाना चाहिये।