इस रिपोर्ट के बाद बेहद सख्‍त हैं सीएम

 

 

 

 

बोले कमल नाथ – कितना भी बड़ा शख्स हो, उसे बख्शा नहीं जाएगा

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। दिवाली से पहले एक बार फिर से मध्यप्रदेश में मिलावट का खेल शुरू हो गया है। इसी बीच भारतीय खाद्य एवं मानक प्राधिकरण ने दूध की गुणवत्ता पर एक रिपोर्ट जारी की है। जिसमें मध्यप्रदेश की स्थिति भी चिंतनीय है। इस रिपोर्ट के आने के बाद सीएम कमलनाथ बेहद ही शख्त नजर आ रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि मिलावट करने वाले किसी भी शख्स को नहीं छोड़ेंगे।

दरअसल, भारतीय खाद्य एवं मानक प्राधिकरण ( एफएसएसआई ) ने देश भर के 1103 शहरों से दूध के सैंपल कलेक्ट किए थे। जिसमें 335 नमूने मध्यप्रदेश से भी लिए थे। पूरे देश से लिए गए 41 फीसदी नमूने मिलावटी पाए गए। वहीं, 6.86 फीसदी सैंपल मिलावटी पाए गए। इस सैंपल में कई ब्रांडेड कंपनियों के पैकेट भी लिए गए थे। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद सीएम कमलनाथ बेहद ही सख्‍त नजर आ रहे हैं।

सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि एफएसएसआई की राष्ट्रीय दूध गुणवत्ता सर्वे-2018 की रिपोर्ट बेहद गंभीर और चिंतनीय। देश भर में दूध में मिलावट के आंकड़े चौंकाने वाले। देश में मिलावट का जहर स्वास्थ्य समाज व मानवता को नष्ट कर रहा है। मिलावटखोर समाज और मानवता के दुश्मन, इन्हें कतई नहीं बख्शा जाना चाहिए।

उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा कि हम इस रिपोर्ट का व्यापक अध्ययन करेंगे। प्रदेश में मिलावट को लेकर हम पूर्व से ही शुद्ध को लेकर युद्ध अभियान चला रहे हैं। दोषियों पर प्रतिदिन कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं। वर्षों से फैले मिलावट के इस जहर को नेस्तानबूद करने को लेकर व्यापक अभियान सरकार पूर्व से ही निरंतर चला रही है।

बख्शा नहीं जाएगा

सीएम कमलनाथ ने आगे लिखा कि इस अभियान में और तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान सतत जारी रहेगा, कितना भी बड़ा शख्स हो, मिलावट करने पर उसे बख्शा नहीं जाएगा। जनता के स्वास्थ्य की रक्षा हमारा प्रमुख ध्येय है और हम इसको लेकर वचनबद्ध हैं।

कार्रवाई जारी

वहीं, दिवाली से पूर्व मिलावटखोर फिर से सक्रिय हो रहे हैं। प्रशासन की टीम भी अब उनके खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी है। भोपाल के बैरागढ़ में शुक्रवार को मिलावटी मावा पकड़ा गया था। वहीं मुरैना जिले में मिलावटी दूध तैयार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। इसके साथ ही प्रदेश के दूसरे हिस्सों में भी लगातार कार्रवाई जारी है।