दीपपर्व : दो दिन खरीददारी का बन रहा महायोग

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। कई सालों बाद दीप पर्व के पहले खरीदी के शुभ मुहूर्त बन रहे हैं, जिसके चलते दीपावली पर बाज़ार गुलजार रहने की उम्मीद है। खरीददारी का महामुहूर्त पुष्य नक्षत्र दो दिन रहेगा।

ज्योतिष की जानकार आरजू विश्वकर्मा ने बताया कि यह मुहूर्त 21 अक्टूबर से प्रारंभ होकर मंगलवार की शाम पौने पाँच बजे तक रहेगा। इसके साथ ही दोनों दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा। इसके चलते वाहन, भूमि, भवन एवं खड़ी फसलों के सौदों के लिये यह शुभ माना जा रहा है।

उनके अनुसार 21 अक्टूबर को अहोई अष्टमी (काली पूजा) पर सोमवार को शाम 05.35 बजे से पुष्य नक्षत्र का आरंभ होगा, जो कि दिन मंगलवार को शाम पौने पाँच बजे तक रहेगा। इस बार पुष्य नक्षत्र लगभग 23 घण्टे प्रभावकारी है, क्योंकि नक्षत्र के आरंभ से लेकर समाप्ति तक सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा।

उन्होंने बताया कि मंगल पुष्य के साथ मंगलवार को मंगल का उदय हो रहा है। इसके कारण रियल स्टेट, पेट्रोकेमिकल, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, एग्रिकल्चर, बैंकिंग, इंश्योरेंस आदि सेक्टरों पर विशेष प्रभाव रहेगा। इन क्षेत्रों के व्यवसाय में तेजी आयेगी। साथ ही कीमती धातुओं के बाजार में भी संतुलन की स्थिति बनेगी।

चार ग्रहों का प्रभाव चमकायेगा बाज़ार : उन्होंने बताया कि पुष्य को नक्षत्रों का राजा कहा गया है। पुष्य नक्षत्र के स्वामी शनि तथा उप स्वामी बृहस्पति हैं। इस नक्षत्र का प्रभाव शनि तथा बृहस्पति से जुड़े क्षेत्रों पर दिखायी देगा। सोमवार व मंगलवार को यह नक्षत्र होने से चंद्र तथा मंगल का क्षेत्र में भी उठाव आने से बाज़ार में तेजी नज़र आयेगी।

धनतेरस व दीपावली से पहले भी बन रहे हैं शुभ संयोग : ज्योतिष की जानकार आरजू विश्वकर्मा के अनुसार इस साल सदियों के बाद इस प्रकार के संयोग बन रहे हैं। सोम और भौम पुष्य नक्षत्र संयोग और सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ ही सूर्य, शुक्र, बुध के एक साथ होने से लक्ष्मी नारायण योग और बुधादित्यराज योग बन रहा है। यह सभी मिल कर बाज़ारों में धनवर्षा करायेंगे।

इस दिन रहेगा यह योग : ज्योतिष की जानकार आरजू विश्वकर्मा ने बताया कि 19 अक्टूबर को रवि योग रहेगा। रवि योग का प्रारंभ शाम 05ः39 से 20 तारीख को शाम 05 बजकर 51 तक रहेगा। इस समय वाहन तथा इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदना शुभ रहेगा। 20 अक्टूबर रवि योग सुबह से लेकर शाम 05 बजकर 51 बजे तक एवं त्रिपुष्कर योग शाम 05 बजकर 51 बजे से 21 अक्टूबर की सुबह 06 बजकर 26 मिनिट तक रहेगा। इस समय खाद्य पदार्थ, सजावट का सामान आदि खरीदना शुभ रहेगा।

इसी तरह 21 अक्टूबर को की शाम 05.35 पर पुष्य नक्षत्र का आरंभ होगा, जो कि दिन मंगलवार को शाम पौने पाँच बजे तक रहेगा। इसमें सभी प्रकार की खरीददारी करना शुभ रहेगा। सोम पुष्य योग 21 अक्टूबर की शाम 05ः31बजे से 22 अक्टूबर सुबह 06ः26 बजे तक रहेगा इसमें सोना, चाँदी, वाहन कपड़ा आदि खरीदना शुभ रहेगा।

22 अक्टूबर भौम पुष्य नक्षत्र सुबह 06 बजकर 26 मिनिट से शाम 04 बजकर 38 मिनिट तक रहेगा। इसमें प्लॉट, मकान, जमीन, स्थायी संपत्ति, गाड़ी, दुकान आदि खरीदना शुभ रहेगा। सर्वार्थ सिद्धि योग 22 अक्टूबर सुबह 04 बजकर 38 मिनिट से 23 तारीख को सुबह 06 बजकर 27 मिनिट तक रहेगा इसमें सभी प्रकार की खरीददारी शुभ रहेगी।

23 अक्टूबर को सूर्य उदय से रात्रि 11 बजकर 21 मिनिट तक लक्ष्मी नारायण और बुधादित्य योग रहेगा। इसमें चाँदी लग्जरी सामान, सजावट का सामान आदि खरीदना शुभ रहेगा। 25 अक्टूबर को धनतेरस के दिन बर्तन, चाँदी, सोना आदि खरीदना शुभ होगा। 27 अक्टूबर को दीपावली – सोना, चाँदी, कपड़े, लक्ष्मी मूर्ति आदि खरीदना शुभ रहेगा।