आत्महत्या से पहले नेहा ने लिखे दो सुसाइड नोट

 

 

 

 

हत्या और दुष्कर्म की जताई थी आशंका

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। भोपाल। हैदराबाद भेल यूनिट में डिप्टी ऑफिसर (अकाउंट्स) भोपाल आनंद नगर की नेहा चौकसे का हैदराबाद में शुक्रवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। भोपाल से नेहा के 14 से 15 परिजन व रिश्तेदार दाह संस्कार में शामिल हुए।

खुदकशी से पहले नेहा ने दो सुसाइड नोट लिखे थे। एक सुसाइड नोट चार पेज का था। माना जा रहा है कि यह नोट घटना के एक दिन पहले लिखा गया था, क्योंकि नोट में लिखा है कि वह उस दिन ऑफिस से थोड़ी जल्दी निकल गई और उसके अगले दिन करवा चौथ है। हालांकि उस पर तारीख 16 अक्टूबर ही लिखी है। वहीं दूसरा सुसाइड नोट 16 अक्टूबर सुबह 10 बजकर 2 मिनट पर वाशरूम में लिखा गया है। सुसाइड नोट में नेहा ने लिखा कि डीजीएम आर्थर किशोर कुमार और उसके साथी मेरी हत्या कर देंगे।

इस घटना से परिवार शोक संतप्त है। नेहा के कजिन भाई व कलचुरी समाज के भोपाल जिलाध्यक्ष संजय चौकसे ने कहा कि हैदराबाद व भोपाल भेल प्रबंधन से पूछताछ कर पुलिस को मामले की जांच करनी चाहिए। आरोपितों को सख्त से सख्त सजा दी जाए। भेल हैदराबाद व भोपाल प्रबंधन को ज्ञापन सौंप कर ओरापितों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करेंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी ज्ञापन सौंपेंगे।

नेहा ने सुसाइड नोट में लिखा- मम्मी मैं बहुत स्ट्रांग बनकर रही, अब हार गई

भेल हैदराबाद यूनिट में अकाउंट्स ऑफिसर मृतक नेहा चौकसे (33) ने सुसाइड नोट में हैदराबाद भेल के डीजीएम फाइनेंस ऑर्थर किशोर कुमार सहित अन्य अधिकारियों सहित भेल भोपाल में पांच महिला साथी पर प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। इसके अलावा नेहा ने सुसाइड नोट में लिखा कि मम्मी मैं हार गई। बहुत स्ट्रांग बन कर रही अभी तक,अब उन लोगों ने सारी हदें पार कर दीं। मेरा जीना मुश्किल कर दिया। मैं जीना चाहती थी। घूमना-फिरना चाहती थी, पर इन लोगों ने ऐसा होने नहीं दिया। नेहा ने हिंदी-अंग्रेजी में सुसाइड नोट लिखा है। जिसमें उसने परिजनों से आत्महत्या करने का कदम उठाने पर सॉरी भी कहा है। सुसाइड नोट में नेहा ने यह भी लिखा है कि कुछ भी करने से पहले मुझे प्रताड़ित करने वाले लोगों के मोबाइल जरूर चेक किए जाएं।