ऐसा है मां लक्ष्मी का दिव्य स्वरूप

 

 

दीपावली रोशनी का त्योहार है। दिवाली के दिन सदियों पुरानी परंपरा के अनुसार लोग अपने घरों के बाहर दिए और इलैक्ट्रोनिक लैंप से प्रकाश करते हैं। उन्हें उम्मीद रहती है कि दीपावली के दिन देवी लक्ष्मी उनके घर जरूर आएंगी।मां लक्ष्मी को कई नामों से पूजा जाता है। ये हैं मां लक्ष्मी को पद्म: कमल निवासी। कमला: कमल निवासी। पद्मप्रिया: एक कमल पसंद करती हैं।

पद्ममाला धारण देवी:

जो कमल की माला पहनती हैं। पद्ममुखी: जिनका चेहरा कमल के रूप की तरह सुंदर है। पद्माक्षी: जिनकी आंखें एक कमल के समान हैं।

देवी लक्ष्मी के अन्य नाम: भार्गवी: ऋषि भृगु की बेटी, श्रीदेवी: धन की देवी, चंचला: जो एक स्थान पर कभी नहीं रुकतीं, भूमि देवी: पृथ्वी देवी, इंदिरा: सुंदर देवी, रमा देवी / वैष्णवी: विष्णु की पत्नी, जलाजा: समुद्र से जन्मीं, ऐश्वर्या: अमीर, रोमा: भगवान हरि की पत्नी।

देवी लक्ष्मी का आभामंडल ( दिव्य चेहरा) :

मां लक्ष्मी कीमती रत्नों से सुसज्जित कपड़े पहनती हैं। वह कमल पर विराजमान रहती हैं। उनके चार हाथ हैं। वह शांत स्वभाव में हैं। मां लक्ष्मी का कमल पवित्रता और आध्यात्मिक शक्ति को दशार्ता है। वह बताता है कि दलदल में खिलने के बावजूद कमल अपने दिव्य गुणों के कारण हमेशा सर्वोपरि बना रहता है।

देवी लक्ष्मी का वाहन :

देवी लक्ष्मी का वाहन उल्लू है। यह पक्षी रात में जागता और दिन में सोता है।

(साई फीचर)