छाये रहे बादल, बूंदाबांदी से मौसम हुआ सुहावना

 

 

दीपावली पर पानी गिरने की प्रबल संभावनाएं!

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। पाँच दिनों के दीप पर्व के अवसर पर सिवनी में लोगों को भगवान भास्कर के दर्शन अच्छे से शायद ही हो पायें। इस दौरान बादल छाये रह सकते हैं और बूंदाबांदी की भी प्रबल संभावनाएं बन रही हैं।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि बंगाल की खाड़ी में उपजे चक्रवाती बादलों की चपेट में पूरा प्रदेश आ गया है। यही वजह है कि पिछले तीन दिनों से शहर के आसमान पर बादल छाये हुए हैं। 20 अक्टूबर से मौसम ने करवट बदली थी। हालांकि इस दिन के बाद हल्की बूंदाबांदी ही देखने को मिली।

ब्रहस्पतिवार को भी सुबह से शाम होने तक बादल छाये हुए थे। दोपहर में कुछ समय के लिये धूप के दर्शन भी हुए। अगले चौबीस घण्टे के दौरान भी इसी तरह का मौसम देखने को मिला। देर रात हवा में ठण्डक महसूस की जाने लगी है। अनुमान जताया जा रहा है कि आने वाले दो से तीन दिनों तक बादल छाये रहेंगे।

सूत्रो ने बताया कि मौसम अब करवट ले रहा है। ब्रहस्पतिवार को हवा की दिशा बदलने के साथ तापमान में बदलाव हुआ। आसमान में दिन भर काले बादल छाये रहे। बादलों के मण्डराने के कारण तापमान में मामूली वृद्धि हुई, लेकिन सुबह और शाम को मौसम सर्द महसूस हुआ। शाम होते ही ठण्डी हवा चली। भोर में धुंध छायी रही।

सूत्रों के अनुसार अभी अरब सागर के सिस्टम के कारण बादल छाये हुए हैं। नये सिस्टम के प्रभाव से एक-दो दिन के अंदर हल्की बारिश भी होने की संभावना नज़र आ रही है। बादलों के हटते ही सर्दी महसूस होना आरंभ हो जायेगी।

रविवार को दीपावली का त्यौहार है लेकिन जिले में अब तक जारी बारिश और बादलों के दौर के कारण अन्नदाता किसान और नागरिक चिंता में हैं। शुक्रवार को अधिकतर स्थानों पर बादल छाये रहे वहीं, कहीं – कहीं हल्की बूंदाबांदी भी हुई। ऐसे में किसानों के साथ आतिशबाजी के शौकीन बच्चे और युवाओं में चिंता साफ नज़र आ रही है। बादलों के कारण उमस का सा एहसास होता रहा वहीं रात और तड़के ठण्डक महसूस हो रही है।

मौसम विभाग के सूत्रों की मानंे तो अरब सागर में बने कम दबाव के क्षेत्र के असर से मौसम में ठण्डक बढ़ी है। कम दबाव का ये क्षेत्र अब ओमान की ओर रुख कर रहा है। इससे अब बादलों का असर थोड़ा कम रहेगा। हालांकि इससे तापमान में कमी आने से सर्दी का जोर बढ़ेगा।