नई दुल्हन ने लगा ली खुद को आग

 

 

 

 

 

पति पर लगाए ये आरोप

(ब्‍यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। खितौला थाना अंतर्गत बरा मोहल्ला निवासी एक नवविवाहिता ने बुधवार सुबह खुद को आग के हवाले कर लिया। गंभीर हालत में नवविवाहिता को इलाज के लिए सिहोरा सिविल अस्पताल लाया गया जहां करीब 40 फ़ीसदी झुलसने पर प्राथमिक उपचार के बाद उसे मेडिकल कॉलेज जबलपुर रेफर कर दिया गया।

अग्निदग्धा ने पुलिस को दिए बयान में बताया है कि शादी के बाद से ही उसका पति दहेज को लेकर आए दिन मारपीट कर प्रताड़ित करता था। फिलहाल पुलिस ने महिला के बयान के आधार पर मामले को जांच में लिया है।

हासिल जानकारी के मुताबिक कैमोर निवासी रवि शंकर महोतिया की बेटी अंजना मलिक (25) की शादी 20 जून 2018 को बरा मोहल्ला खितौला निवासी देवराज मलिक से हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद से ही देवराज अपनी पत्नी को दहेज कम लाने की बात कहकर शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगा। अंजना ने अपने माता पिता को इस बात की जानकारी कई बार फोन पर दी। इस बीच अंजना जून 2019 में एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जन्म के बाद भी पति देवराज अंजना के साथ मारपीट करने लगा। बुधवार को अंजना के माता-पिता उसे लेने के लिए कैमोर से खितौला आ रहे थे, इस बीच उन्हें फोन पर जानकारी लगी कि उनकी बेटी ने खुद को आग लगा ली है।

गैस चालू कर साड़ी की पल्लू से लगाई आग :

एसडीओपी भावना मरावी और नायब तहसीलदार राहुल मेश्राम को दिए बयान में अंजना ने बताया कि बुधवार सुबह शराब के नशे में उसके पति देवराज ने उसके साथ जमकर मारपीट की। मारपीट से परेशान होकर अंजना ने घर मैं रखी गैस के चूल्हे को चालू किया और पल्लू से आग लगा ली। आग लगने से वह बुरी तरीके से झुलस गई। गंभीर हालत में उसे इलाज के लिए सिहोरा अस्पताल लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज जबलपुर रेफर कर दिया गया।