लखनादौन से हो रही थी टिकिटों की कालाबाजारी!

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। एक टिकट दलाल लखनादौन में रेलवे काउंटर से विभिन्न स्थानों का रिजर्वेशन करवाता। इसके बाद जबलपुर में ऑनलाइन सेंटर की आड में यात्रियों को वह यह टिकट बेच देता। इसकी जानकारी आरपीएफ के खुफिया विभाग को लग गई और टीम ने उसे दबोच लिया।

इसके बाद आरपीएफ पोस्ट द्वारा भी शुक्रवार को आरोपी के बताए गए ठिकाने पर छापा मारा गया, जहां से अवैध रूप से ई टिकट बनाने वाले उसके साथी को भी दबोच लिया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उपरैनगंज निवासी संजय यादव लखनादौन के रेलवे काउंटर से विभिन्न स्थानों के लिए रिजर्वेशन करवाता था। जिसे वह जबलपुर में रेल यात्रियों को दो से तीन सौ रुपए अधिक में बेच दिया करता। इसके पीछे का कारण टिकट का कन्फर्म होना होता था।

इसकी जानकारी खुफिया विभाग को लगी, तो टीम ने उसे उस वक्त दबोच लिया। जब वह बाइक एमपी 20 एनडी 3643 से जा रहा था। जांच के दौरान उसके पास से चार रेलवे काउंटर से बनाए गए टिकट मिले। जिनकी कीमत 11580 रुपए है। इसके अलावा रिजर्वेशन फॉर्म भी जब्त किए गए। आरोपी नर्मदा एमपी ऑनलाइन के पास से यह टिकट बेचता था।

फर्जी आईडी से बनाता था ई टिकट : इधर खुफिया विभाग की सूचना पर आरपीएफ पोस्ट इंचार्ज वीरेन्द्र सिंह की टीम ने कलचुरी होटल के पास स्थित नर्मदा एमपी ऑनलाइन में छापा मारा। इस दौरान वहां भानतलैया हनुमानताल निवासी विकास सोनकर बैठा था।

जांच के दौरान विकास के पास से एक तत्काल का बनाया गया ई टिकट जब्त किया गया। जिसकी कीमत 3096 रुपए थी। वहीं 148 ऐसे ई टिकट मिले, जिन्हें वह बेच चुका था। उनकी अनुमानित कीमत एक लाख 56 हजार 880 रुपए थी। जांच के दौरान पता चला कि वह फर्जी आईडी के जरिए यह टिकट बुक करता था।