केवलारी क्षेत्र में जंगली हाथियों ने दी आमद

 

 

अचानक आये हाथी बने कौतुहल का विषय

(आगा खान)

कान्हीवाड़ा (साई)। कान्हीवाड़ा, केवलारी के आसपास जंगली हाथियों की धमक के कारण ग्रामीणों में दशहत व्याप्त है। अचानक आये इन हाथियों को लेकर तरह – तरह की चर्चाएं जारी हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दक्षिण वन मण्डल के कान्हीवाड़ा परिक्षेत्र के अनेक स्थानों पर जंगली हाथियों का झुण्ड देखा गया है। इसके अलावा कान्हीवाड़ा परिक्षेत्र के नरवाखेड़ा के आसपास दो मदमस्त हाथी देखे जाने के कारण हड़कंप मचा हुआ है। लोगों ने इन हाथियों के विचरण का वीडियो भी बनाया है, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वन विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि लगभग एक पखवाड़े से दक्षिण और उत्तर सिवनी वन मण्डल के परिक्षेत्रों में हाथियों की आमद की बात सामने आयी है। ये हाथी, केवलारी, घंसौर, कहानी, कान्हीवाड़ा आदि क्षेत्र में विचरण करते हुए देखे गये हैं।

सूत्रों ने बताया कि इस झुण्ड में लगभग आधा दर्जन हाथी देखे जाने की बात भी प्रकाश में आयी है। हाथियों के द्वारा किसानों की फसलों को नुकसान पहुँचाये जाने की बात भी कही जा रही है। कान्हीवाड़ा क्षेत्र के ग्राम खैरी के अलावा सहजपुरी, जुरतरा, हिनोतिया, नरवाखेड़ा, मठियाटोला में हाथियों का मूवमेंट बताया गया है।

सूत्रों ने यह भी बताया कि इस तरह की किंवदंतियां भी हैं कि हाथियों के अंदर एक गुण पाया जाता है कि ये उस स्थान की ओर जाने का प्रयास करते हैं जहाँ उनके पूर्वज रहे हों। सूत्रों ने इस बात की संभावना व्यक्त की है कि हो सकता है कि सदियों पहले इन हाथियों के पूर्वज सिवनी के आसपास निवास करते रहे हों। वैसे इन हाथियों के बिहार से आने की बात भी सूत्रों ने कही है।