एनसीपी-शिवसेना में क्या बन गई बात?

 

 

 

 

शरद पवार के बाद उद्धव ठाकरे से मिलने पहुंचे संजय राउत

(ब्यूरो कार्यालय)

मुंबई (साई)। महाराष्ट्र की सियासत पल-पल नए मोड़ ले रही है। पुरानी सरकार का कार्यकाल खत्म होने में सिर्फ 72 घंटे बचे हैं। ऐसे में शिवसेना और बीजेपी दोनों नई सरकार के गठन की कोशिश में जुटी हैं।

इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात की। बता दें कि यह एक हफ्ते में पवार और राउत की दूसरी मुलाकात है। पवार से मुलाकात के बाद संजय राउत मातोश्री पहुंचे हैं, यहां वह शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से बात कर रहे हैं। एनसीपी चीफ शरद पवार प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं।

शरद पवार से मुलाकात के बाद संजय राउत ने इसे महज शिष्टाचार भेंट बताया है हालांकि एक हफ्ते मे दूसरी मुलाकात के बाद सियासी गलियारों में चर्चा तेज है। संजय राउत ने कहा, ‘वह (पवार) देश और प्रदेश के वरिष्ठ नेता हैं। वह महाराष्ट्र में आज की राजनीतिक स्थिति को लेकर चिंतित हैं। हमने इस पर विस्तृत चर्चा की।

शिवसेना-बीजेपी के बीच गतिरोध जारी

बता दें कि महाराष्ट्र चुनाव के नतीजे आने के 13 दिन बाद भी सरकार गठन की तस्वीर साफ नहीं हो पाई है। यह सब कुछ बीजेपी और शिवसेना के बीच सीएम पद को लेकर खींचतान के साथ शुरू हुआ था। शिवसेना सीएम पद को लेकर 50-50 फॉर्म्युले पर अड़ी है। संजय राउत ने इससे पहले कहा था, ‘हम केवल उस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे जिस पर हमने विधानसभा चुनाव से पहले सहमति व्यक्त की थी। अब नए प्रस्तावों का आदान-प्रदान नहीं किया जाएगा। बीजेपी और शिवसेना ने चुनाव से पहले सीएम पद को लेकर एक समझौता किया था और उसके बाद ही हम गठबंधन के लिए आगे बढ़े थे।सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे आज दोपहर मुंबई पहुंच सकते हैं।

आदित्य ठाकरे होंगे अगले सीएम

उधर, आदित्य ठाकरे के करीबी ने दावा किया है कि आदित्य महाराष्ट्र के अगले सीएम के रूप में शपथ लेने जा रहे हैं। शिवसेना की युवा सेना के सदस्य राहुल कनाल ने ट्वीट कर कहा, यह ईश्वर की मर्जी है। इन शब्दों को सुनने के लिए और फिर से उसी जगह पर यह नजारा देखने के लिए प्रतीक्षा कर रहे हैं, जहां हमारे मार्गदर्शक ने हमारा साथ छोड़ दिया था। उनका आशीर्वाद हम सभी के साथ है। हमारे प्यारे महाराष्ट्र की सेवा करने की जिम्मेदारी है। ईश्वर महान है। जय हिंद जय महाराष्ट्र! इसमें राहुल ने दिवगंत बालासाहेब ठाकरे के साथ आदित्य की तस्वीर भी पोस्ट की है।

भागवत से मिले फडणवीस

सरकार गठन पर शिवसेना से चल रही रस्साकशी के बीच बीजेपी आरएसएस की शरण में पहुंच गई है। मंगलवार देर रात देवेंद्र फडणवीस ने आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत से काफी देर तक मंथन किया। इस दौरान नितिन गडकरी भी मौजूद रहे। माना जाता है कि मोहन भागवत और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बीच अच्छे संबंध हैं। सूत्रों के मुताबिक फडणवीस ने भागवत से सरकार गठन पर शिवसेना को मनाने के लिए कहा है। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के सलाहकार किशोर तिवारी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत से भी खत लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है।

‘… तो स्पीकर कांग्रेस का होगा

उधर, कांग्रेस के समर्थन से एनसीपी-शिवसेना की सरकार के बन रहे समीकरण पर सेना से सूत्रों ने कहा है कि स्पीकर कांग्रेस से हो सकता है, तभी गठबंधन स्थिर रह पाएगा। शिवसेना के एक पदाधिकारी ने बताया, ‘हम आखिरी वक्त ढाई साल के सीएम पद को लेकर बीजेपी के जवाब का इंतजार करेंगे जिसका उन्होंने हमसे चुनाव से पहले वादा किया था। लेकिन अगर हम एनसीपी के साथ जाते हैं तो यह एक आदर्श हल होगा।उन्होंने कहा कि हालांकि कांग्रेस अभी इस फॉर्म्युले को लेकर तैयार नहीं है।