बीएसएफ जवान ने शादी के मंडप में 11 लाख दहेज ठुकरा पेश की मिसाल

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जयपुर (साई)। राजस्थान की राजधानी जयपुर में बीएसएफ के एक कॉन्स्टेबल ने शानदार उदाहरण पेश करते हुए अपनी शादी में दहेज लेने से इनकार कर दिया। जवान ने 11 लाख रुपये लेने से इनकार करते हुए आशीर्वाद के तौर पर 11 रुपये और एक नारियल लिया।

जयपुर के अम्बा बारी इलाके में बीएसएफ जवान जितेन्द्र सिंह ने दहेज प्रथा के खिलाफ उदाहरण पेश किया। शादी के दौरान लड़की के पिता ने कैश में 11 लाख रुपये का ऑफर किया, जिसे स्वीकार करने से दूल्हे ने इनकार कर दिया। वधू पक्ष के लोग पहले तो यह सोचकर घबरा गए कि दूल्हा, इंतजामों से नाराज होकर ऐसा कर रहा है। हालांकि जब दूल्हे ने दहेज नहीं लेने की बात की तो सब की आंखों में आंसू आ गए।

जितेंद्र ने शनिवार को चंचल शेखावत से शादी की। लड़की के पिता गोविंद सिंह शेखावत ने कहा, ‘मैं पहले तो थोड़ा घबरा गया और सोचा कि दूल्हा या फिर बाराती किसी बात से नाराज हो गए हैं। मुझे ऐसा भी लगा कि कहीं वह और भी अधिक पैसों की मांग तो नहीं कर रहे हैं। बाद में मुझे अहसास हुआ कि दूल्हा और उसकी फैमिली दहेज प्रथा के खिलाफ हैं।

इस बारे में कॉन्सटेबल जितेंद्र सिंह ने कहा, ‘जिस दिन मुझे पता चला कि मेरी होने वाली पत्नी ने एलएलबी और एलएलएम किया हुआ है और साथ में पीएचडी भी कर रही है, उसी समय मैंने सोच लिया कि वह मेरे और मेरे परिवार के योग्य है। वह जूडिशल सर्विस की तैयारी भी कर रही हैं। मैंने दहेज नहीं लेने का फैसला लिया और परिवार भी इस मसले पर साथ में खड़ा रहा। हमने शादी वाले दिन ही अपने फैसले का खुलासा करने का निश्चय किया।