कांस्टेबल ने अपनी सहकर्मी के साथ किया गंदा काम

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्य प्रदेश पुलिस की छवि तमाम तरह की कोशिशों के बावजूद साफ सुथरी होने का नाम नहीं ले रहीं हैं। पूर्व में जहां कुछ पुलिस अधिकारियों पर महिला कर्मियों के शोषण के आरोप लग चुके हैं। वहीं अब एक और नया मामला सामने आया है, जिसके चलते एक बार फिर MP police शर्मसार होने को मजबूर हो गई हैं।

अब तक जहां महिला नागरिकों की सुरक्षा को लेकर ही मुख्य रूप से मध्य प्रदेश में पुलिस पर सवाल उठते थे, वहीं अब ये पुलिस रक्षक की जगह भक्षक की भूमिका में दिखाई देने लगी है।

ऐसे समझें पूरा मामला…

दरअसल भोपाल में मप्र पुलिस ने एक कांस्टेबल के खिलाफ अपनी सहयोगी कांस्टेबल को कथित तौर पर नशीली दवा देकर दुष्कर्म का केस दर्ज किया है। बताया जाता है कि आरोपी कांस्टेबल की पहचान आनंद गौतम के तौर पर हुई है। वर्तमान में आरोपी कांस्टेबल विदिशा जिले में तैनात है, पांच महीने पहले जब ये घटना हुई उस समय आरोपी की भोपाल के बाहरी क्षेत्र के नजीराबाद पुलिस स्टेशन में पोस्टिंग थी।

भोपाल के टीटी नगर थाने की पुलिस के मुताबिक पीड़ित कांस्टेबल का आरोप है कि उसे वॉशरूम जाना था, तो आरोपी कांस्टेबल उसे जवाहर चौक में एक होटल में ले गया था। वहां उसने उसे नशीली दवा मिला पेय पदार्थ पीने को दिया। जिसके बाद मेरे साथ गंदा काम किया गया।

आरोपी कांस्टेबल के खिलाफ केस दर्ज…

आरोपी कांस्टेबल गौतम के खिलाफ रेप का केस दर्ज किया गया है लेकिन उसे अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

ये लगाए आरोप…

पीड़ित कांस्टेबल ने अपनी शिकायत में कहा है कि ये घटना 15 जून को हुई जब मैं अपनी ड्यूटी खत्म होने के बाद अपनी बहन का इंतजार कर रही थी। इस समय मेरी तबीयत ठीक नहीं थी और वॉशरूम जाना चाहती थी, तभी आरोपी कांस्टेबल गौतम ने मुझे अपनी बाइक पर लिफ्ट दी और एक होटल में ले गया। जहां उसने मुझे नशीली दवा दी और फिर मेरे साथ गंदा काम किया।

पीड़ित ने ये भी आरोप लगाया कि गौतम घटना वाले दिन के बाद उसका पीछा करने लगा। साथ ही धमकी दी कि वो वीडियो लीक कर उसे बदनाम कर देगा। पीड़ित के मुताबिक गौतम दावा करता था कि उसने छुपे कैमरे से वीडियो बना रखा है। पीड़ित महिला कांस्टेबल का कहना है कि गौतम ये भी कहा कि अगर आगे भी संबंध नहीं बनाए, तो वो उसका चेहरा तेजाब फेंक कर खराब कर देगा।