केंद्र से राशि मांगना हमारा अधिकार, मैं कोई भीख नहीं मांगता : कमल नाथ

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

विदिशा (साई)। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसानों की कर्जमाफी को लेकर अपनी वचनबद्धता को शुक्रवार को एक बार फिर दोहराया। कहा कि वे किसानों की कर्जमाफी के लिए वचनबद्ध हैं, जिन किसानों की कर्जमाफी किन्ही कारणों की वजह से नहीं हो सकी है, उनकी भी कर्जमाफी जल्द होगी।

कमलनाथ विदिशा में नवीन जिला अस्पताल के लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने किसानों की कर्जामाफी को लेकर चिंता भी जाहिर की। उन्होंने कहा कि वे यह मानते हैं कि अभी सभी का कर्जा माफ नहीं हुआ है। उसकी वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि अनेक किसानों की गलत नाम से आईडी तथा किसानों के एक से अधिक खाते होने की वजह से यह संभव नहीं हो सका। मुख्यमंत्री ने कहा कि विदिशा में 86 हजार किसानों का कर्ज माफ हुआ है।

केंद्र से भीख नहीं मांगता : सीएम बोले- केंद्र से राशि मांगना मेरा अधिकार है। मैं कोई भीख नहीं मांगता। पिछले दिनों हुई अतिवृष्टि से हमारे किसानों की फसलें चौपट हुई हैं और अधोसंरचना को भारी नुकसान पहुंचा है। केंद्र सरकार प्रदेश को मदद देने के मामले में प्रदेश की जनता से सौतेला व्यवहार कर रही है। प्रदेश को अभी तक कोई भी सहायता राशि प्राप्त नहीं हुई है, इसके बावजूद राज्य सरकार ने किसानों को राहत राशि देना शुरु कर दिया है।

राज्य का खाली खजाना सौंपा था हमें : मुख्यमंत्री ने पूर्ववर्ती भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हमें खाली खजाना प्रदेश की पिछली सरकार ने सौंपा है, जिसे हम विकास की राह पर आगे ले जा रहे हैं। नौजवानों के रोजगार के बारे में उन्होंने कहा कि अच्छी शिक्षा नहीं मिलने के कारण हमारे नौजवान इंटरव्यू भी नहीं निकाल पाते थे, लेकिन हमारी सरकार चाहेगी कि अच्छे कॉलेज खुले, अच्छे शिक्षण संस्थान खुले जिससे हमारा नौजवान बेरोजगार नहीं रहे।