महाराष्ट्र में सरकार गठन पर सस्पेंस बाकी

 

 

 

 

डील के लिए सोनिया गांधी अभी भी तैयार नहीं?

(ब्यूरो कार्यालय)

मुंबई (साई)। महाराष्ट्र में सरकार बनाना अभी दूर की कौड़ी है, क्योंकि यह निर्णय अब कांग्रेस हाईकमान तय करेगा।

बताया जा रहा है कि शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अभी भी तैयार नहीं है। रविवार को एनसीपी चीफ शरद पवार पुणे में पार्टी नेताओं से चर्चा करने वाले हैं। इसके बाद सोमवार को दिल्ली में वह कांग्रेस के बड़े नेताओं से मिलेंगे। पवार शिवसेना से गठबंधन को लेकर सोनिया गांधी को मनाने की कोशिश करेंगे। पहले उन्हें रविवार को ही दिल्ली जाना था लेकिन अब वह सोमवार को दिल्ली जाएंगे। दूसरी ओर, बीजेपी ने भी सरकार बनाने की फिर हुंकार भरी है।

सरकार गठन का सारा दारोमदार अब सोनिया पर

महाराष्ट्र में सरकार बनाने का पूरा दारोमदार अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर है। बताया जा रहा है कि शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए सोनिया गांधी अभी भी तैयार नहीं है। शरद पवार उन्हें मनाने के लिए दिल्ली में सोमवार या मंगलवार को मिल सकते हैं। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पार्टी हाई कमान महाराष्ट्र के अपने नेताओं को न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा के लिए शिवसेना के नेताओं के साथ बैठक करते देखने से खुश नहीं है। एक पार्टी सूत्र ने मुंबई मिरर को बताया, ‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अभी भी गठबंधन को मंजूरी नहीं दी है। आखिरी फैसला अभी होना है। आलाकमान ने महाराष्ट्र के कांग्रेस नेताओं से सरकार गठन के लिए शिवसेना के नेताओं से मुलाकात पर नाखुशी जाहिर कर दी है।

इसके अलावा महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस नेताओं की ओर से तैयार किए गए न्यूनतम साझा कार्यक्रम के कुछ बिंदुओं पर कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं को ऐतराज है। उनसे मिलने पर पवार उन बिंदुओं पर चर्चा करेंगे। इसके बाद पवार सोनिया गांधी से मिलेंगे। सोनिया गांधी और शरद पवार की बात सफल होने पर ही शिवसेना के नेता संजय राउत और अनिल देसाई उनसे मिलेंगे। उससे पहले पवार शिवसेना प्रमुख उद्धव के साथ भी सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं।

कांग्रेस के कारण गवर्नर से मिलने का प्रोगाम रद्द

शिवेसना-एनसीपी-कांग्रेस के नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने के लिए शनिवार की शाम का वक्त लिया था, लेकिन मुंबई में कांग्रेस का कोई नेता ही नहीं था, जिससे राज्यपाल से मिलने का कार्यक्रम शिवसेना व एनसीपी को रद्द करना पड़ा। कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने माना कि कांग्रेस का कोई नेता मुंबई में नहीं था, इसलिए राज्यपाल से कैसे मिलते।

हम ही बनाएंगे सरकार: बीजेपी

दादर स्थित मुंबई बीजेपी प्रदेश कार्यालय में तीन दिन चली माथापच्ची के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार तो बीजेपी की ही बनाएगी, मगर कैसे बनेगी इस पर वह मुस्कराकर टाल देते हैं। इससे पहले प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने भी यही दावा किया था।

राज्यपाल ने किसानों को दी मदद

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी किसानों की मदद के लिए 8,000 रुपये प्रति हेक्टेयर देने की घोषणा की है। इस मदद को कांग्रेस ने नाकाफी करार दिया है। पहले सूखे और फिर बेमौसम बारिश के कारण राज्य के किसानों का बुरा हाल है। किसानों को मदद देने के लिए शरद पवार और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे पहले से ही राज्य में दौरे कर रहे हैं। किसानों को मदद देने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी राज्यपाल से मिले थे। शनिवार को राज्यपाल कोश्यारी ने खरीफ फसल के 8,000 रुपये प्रति हेक्टेयर और बारहमासी फसल व फल बगीचों के लिए 18,000 रुपये प्रति हेक्टेयर देने की घोषणा की है। यह मदद दो हेक्टेयर तक जमीन वाले किसानों को दी जाएगी। बारि‌श से प्रभावित इलाकों में किसानों के बच्चों का परीक्षा शुल्क माफ किया जाएगा। शासन की ओर से घो‌षित मदद को तत्काल किसानों तक पहुंचाने का आदेश दिया गया है।