आरक्षक ग्राहक बन पहुंचा, चार युवकों सहित चार युवतियां पकड़ाईं

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

उज्‍जैन (साई)। क्राइम ब्रांच ने रविवार शाम मक्सी रोड स्थित शंकरपुर से देह व्यापार गिरोह का पर्दाफाश किया। पुलिस ने एक मकान में दबिश देकर चार लड़कियों व चार युवकों को गिरफ्तार किया है।

गिरोह की सरगना वाट्सएप पर लड़कियों के फोटो भेजकर ग्राहक तलाशती थी। इसके अलावा वह शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में मकान किराए पर लेती और थोड़े दिनों में खाली कर देती थी। शंकरपुर में सरगना ने खुद का मकान बना लिया था। इसके अलावा उसने एक ऑटो वाले को लड़कियों व लड़कों को लाने व ले जाने के लिए रख रखा था। पुलिस ने मौके से एक कार, ऑटो व बाइक बरामद की है। सरगना से पूछताछ की जा रही है। एएसपी क्राइम प्रमोद सोनकर ने बताया कि लंबे समय से सूचना मिल रही थी कि शंकरपुर में शिप्रा विहार के समीप मैदान में एक निर्माणाधीन मकान में सेक्स रैकेट संचालित हो रहा है। यहां रहने वाली महिला की गतिविधि संदिग्ध है।

इस पर रविवार शाम को एसआई प्रतिक यादव व क्राइम ब्रांच की टीम को मौके पर भेजा गया था। एक आरक्षक को ग्राहक बनाकर महिला से बात करने के लिए भेजा था। इसके बाद टीम ने छापा मार दिया। पुलिस ने मौके से राजस्थान व नागदा निवासी युवतियों के अलावा मुख्य सरगना व शंकरपुर की रहने वाली महिला सहित चार युवकों को पकड़ा है। पकड़ाए युवकों ने अपने नाम सुरेश पिता रामचंद्र जैन निवासी नागझिरी, ऑटो चालक घनश्याम पिता भीमा चौहान निवासी आगर, बबलू पिता गुलाबसिंह यादव निवासी विदिशा, राजेंद्र जाट बताए हैं। घनश्याम ऑटो चालक था। वह ग्राहकों व लड़कियों को लाने व ले जाने का काम करता था। इसके एवज में सरगना उसे 200 रुपए देती थी।

सरगना की उम्र 60 साल

एएसपी सोनकर के अनुसार सरगना बबीता 60 साल की है और वह वाट्सएप पर फोटो भेजकर ग्राहक तलाश करती थी। इसके अलावा वह शहर में अलग-अलग क्षेत्रों में मकान किराए पर लेती थी। उसने नागदा व राजस्थान की युवतियों को अपनी गैंग में शामिल कर रखा था। उन्हें स्टेशन से लाने व ले जाने की भी सुविधा दे रखी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *