सिवनी से भी रहा है चीफ जस्टिस का वास्ता!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। देश के नये प्रधान न्यायधीश जस्टिस शरद अरविंद बोवड़े का नाता सिवनी से भी रहा है। मध्य प्रदेश के चीफ जस्टिस रहते हुए वे अनेकों बार जबलपुर से नागपुर जाते थे। इस दौरान वे सिवनी के सर्किट हाउस में भी कई बार रूक चुके हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जस्टिस शरद अरविंद बोवड़े जब मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश हुआ करते थे उस दौरान वे अनेक बार सड़क मार्ग से जबलपुर से अपने गृह नगर नागपुर जाया करते थे। इस दौरान उन्होंने कई बार सिवनी के सर्किट हाउस में विश्राम भी किया है।

बताया जाता है कि जिस दौर में मोहगाँव से लेकर खवासा तक का सड़क का हिस्सा बहुत ही ज्यादा खराब हो चुका था और इस हिस्से में सड़क निर्माण से संबंधित मामला माननीय सर्वोच्च न्यायालय में लंबित था उस दौर में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा इस मार्ग को दुरूस्त करने में कानूनी अड़चनों का हवाला देकर इसका संधारण करने में भी कोताही बरती जाती थी।

बताया जाता है कि इस दौरान जस्टिस शरद अरविंद बोवड़े से जब लोगों ने संपर्क किया तो उनके द्वारा इस संबंध में तत्कालीन जिलाधिकारी मनोहर दुबे को बुलाकर मालूमात की गयी थी। इसके उपरांत क्या हुआ, यह बात तो शायद ही कोई जानता हो पर इसके महज़ एक माह में ही मोहगाँव से खवासा तक के मार्ग में सारे गड्ढे भरे जाकर सड़क का डामरीकरण कर दिया गया था।