सुबह हुई बारिश, दिन भर चलीं सर्द हवाएं

 

 

दूसरे पखवाड़े में दो तीन दिन के लिये गिर सकता है पारा

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। जैसी उम्मीद जतायी जा रही थी, उसके अनुरूप शुक्रवार की सुबह बूंदाबांदी हुई। शनिवार को भी बूंदाबांदी हो सकती है। दांत किटकिटाने वाली सर्दी के लिये अभी चार पाँच दिन का इंतजार बाकी है।

शुक्रवार को सुबह मुँह अंधेरे ही बूंदाबांदी आरंभ हुई। बूंदाबांदी के बाद उम्मीद की जा रही थी सर्दी जोर पकड़ लेगी, पर ऐसा हुआ नहीं। दिन में भगवान भास्कर, बादलों की ओट से बीच – बीच में निकले। दिन भर चलीं सर्द हवाओं ने सर्दी का अहसास तो कराया पर यह दांत किटकिटाने वाली सर्दी की बजाय गुलाबी ठण्ड ज्यादा नज़र आ रही थी।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि बादलों के बने रहने और अरब सागर की ओर से आ रही नमी भरी हवा चलने के कारण मौसम में ठण्डक बढ़ी तो है पर यह गुलाबी सर्दी के रूप में ही महसूस हो रही है। आने वाले चार पाँच दिनों में मौसम के साफ होने के बाद सर्दी का प्रकोप बढ़ सकता है।

बृहस्पतिवार और शुक्रवार की रात में काले बादलों ने जिले में अपना डेरा जमा लिया था। सुबह पौ फटने के पहले ही बादल बरसने आरंभ हो गये। सुबह सात बजे के आसपास बूंदाबांदी थम गयी। दिन भर आसमान पर काले बादल छाये रहे। सूत्रों ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते बादल छाये हुए हैं। तीन चार दिनों में इसका असर समाप्त हो सकता है।

मौसम में आये परिवर्तन के का असर दृश्यता (विजिबिलटी) पर भी पड़ता दिख रहा है। बृहस्पतिवार की रात में भी कोहरा दिखायी दे रहा था। शुक्रवार की सुबह भी कोहरा दिखायी दिया। दोपहर में जब बादलों की खेप आसमान पर दिखी, उसके बाद रौशनी अपेक्षाकृत कम हो गयी। शाम को भी शीघ्र ही अंधेरा पसर गया था।

सूत्रों ने बताया कि शनिवार से सोमवार तक दिन का तापमान कम रह सकता है, पर रात के तापमान में कमी शायद ही आये। इसके अलावा पल-पल बदलते मौसम के पूर्वानुमान के हिसाब से सूत्रों ने बताया कि मंगलवार से दिन और रात में पारा गोता भी लगा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *