ओलों के साथ हुई झमाझम बारिश

 

किसानों के लिये आफत बनकर आयी राहत भरी बारिश!

(संजीव प्रताप सिंह)

सिवनी (साई)। लगातार तीन दिनों से बारिश के साथ ही बुधवार एवं बृहस्पतिवार की दरमियानी रात ओले भी गिरे। जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचल भी इस बारिश और ओले से प्रभावित हुए बिना नहीं रहे। इसी बीच अनेक स्थानों पर ओले गिरने की खबरें भी आयी हैं।

किसान कल्याण विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि मावठे की बारिश तो किसानों के लिये फायदेमंद मानी जाती है पर इसके साथ ही ओले गिरने के कारण अब किसानों को समस्या का सामाना करना पड़ सकता है। राजस्व विभाग के द्वारा ओलों से हुई क्षति के आंकलन के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

सूत्रों का कहना है कि आमतौर पर मावठे की बरसात फसलों के लिये काफी लाभयादक होती है। अभी हो रही बरसात भी फसलों के लिये तो राहत देने वाली तो है लेकिन इसके साथ ओले गिरने के कारण अब फसल पर संकट के बादल छाते दिख रहे हैं।

इसके अलावा जिन किसानों की समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी नहीं हुई उनके लिये आफत बन गयी है। समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी में विलंब, खरीदी केंद्रों में सुरक्षा के इंतजामों की कमी, तुलाई में विलंब और बारदाना की कमी सहित अन्य कारणों से किसानों को परेशान होना पड़ रहा है।

रात भर तिरपाल बिछाते रहे किसान : अनेक खरीद केंद्रों में उन किसानों जिनका धान खरीदा नहीं गया था, वे खरीद के इंतजार में बैठे थे। अचानक हुई बारिश से रात में किसान अपने अपने धान को पानी से बचाने के लिये जुगत लगाते दिखे। किसान कहीं से तिरपाल की व्यवस्था कर अपना अनाज ढंकते हुए पानी से बचाते नज़र आये।