नैरोगेज़ बंद होने के तीन साल बाद भी काम नहीं हुआ पूरा

 

(ब्यूरो कार्यालय)

छिंदवाड़ा (साई)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मण्डल के तहत छिंदवाड़ा नैनपुर मण्डला फोर्ट परियोजना की रफ्तार बजट के अभाव में धीमी पड़ गयी है। रेलवे के निर्माण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक छिंदवाड़ा से नैनपुर तक कुल लगभग 140 किलो मीटर रेलमार्ग का काम 70 फीसदी पूरा हो गया है। विभाग ने रेलवे से नये विशेष वर्ष में चार सौ करोड़ रुपये की डिमाण्ड की है।

हालांकि बीते वित्तीय वर्ष में डिमाण्ड के अनुसार बजट न मिलने से परियोजना के कार्य धीमे चल रहे हैं। बजट के अभाव में परियोजना के काम बंद कर दिये गये हैं। वहीं दूसरी ओर रल अधिकारियों का कहना है कि बजट के अभाव में काम की रफ्तार धीमी हो गयी है। मार्च 2020 तक रेलवे ने छिंदवाड़ा से नैनपुर तक काम पूरा करने का लक्ष्य रखा है, लेकिन ऐसा फिलहाल होता दिखायी नहीं दे रहा है।

गौरतलब है कि 2010 में छिंदवाड़ा नैनपुर मण्डला फोर्ट रेल परियोजना का प्रस्ताव स्वीकृत हुआ था, नैनपुर से जबलपुर कुल 125 किलो मीटर रेलमार्ग पर ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है। अब नैनपुर से सिवनी होते हुए छिंदवाड़ा रेल मार्ग का काम पूरा होना है। ये काम पूरा होते ही छिंदवाड़ा सिवनी, नैनपुर होते हुए जबलपुर तक ट्रेन मिलेगी। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार नैनपुर से छिंदवाड़ा का 70 फीसदी ही काम पूरा हो सका है।

3 thoughts on “नैरोगेज़ बंद होने के तीन साल बाद भी काम नहीं हुआ पूरा

  1. Pingback: pinewswire

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *