सफाई के नाम पर किया पौने दो लाख का फर्जीवाड़ा!

 

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। ग्राम पंचायत के द्वारा साफ सफाई के नाम पर 05 दिसंबर को लगभग एक लाख 80 हजार रूपये के भुगतान को लेकर चर्चाओं का बाज़ार जमकर गर्मा रहा है। यह भुगतान किसी फर्म के नाम पर किया गया बताया जा रहा है।

ज्ञातव्य है कि लंबे समय से पुण्य सलिला बैनगंगा के तट के पास ग्राम पंचायत के द्वारा शहर का कचरा ले जाकर डंप किया जाता था। यह कचरा विश्राम गृह के आसपास तक फैल जाता था। इस संबंध में जब शोर शराबा हुआ तो ग्राम पंचायत के द्वारा इसकी सफाई करायी गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत के प्रभारी सरपंच और सचिव के द्वारा महज चार घण्टे तक जेसीबी कंपनी की मशीन को लगाकर कुछ ट्रॉली कचरा यहाँ से उठाकर बैनगंगा नदी की दूसरी ओर वाले तट के पास फेंक दिया गया है। इस स्थान पर डस्ट बिछा दी गयी है।

बताया जाता है कि यह पूरा काम ग्राम पंचायत के उन 20 सफाई कर्मियों जिन्हें ग्राम पंचायत से बकायदा वेतन दिया जाता है, की मदद से किया गया है। इसके अलावा एक जेसीबी और चार ट्रैक्टर ट्रॉली किराये पर लगाये गये थे। 14वें वित्त आयोग की राशि से 09 दिसंबर को 28 हजार रूपये एवं इसके पहले 21 अक्टूबर को एक लाख 84 हजार रूपये इस तरह कुल दो लाख 12 हजार का भुगतान किया गया है।

जस की तस है गंदगी : जिस स्थान से कचरा उठाकर डस्ट फैलायी गयी थी, वह स्थान दूसरे ही दिन से जैसा था वैसा ही नज़र आने लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम पंचायत के द्वारा महज़ दिखावे के लिये ही साफ सफाई कर लाखों रूपयों का गोलमाल किया गया है।

नहीं बदले हालात : वही, ग्राम पंचायत छपारा के कारनामे यहीं नहीं रुके। पूर्व सरपंच के वित्तीय अधिकार छीने जाने के बाद अब तीन माह में किये गये मनमाने भुगतान की परत दर परत से पर्दा उठ रहा है। भ्रष्टाचार की आरोपी सरपंच पूनम सैयाम के कार्यकाल के बाद बीते तीन माह से प्रभार सम्हाल रहे प्रशासनिक प्रभारी सरपंच श्री तेकाम व वित्तीय अधिकारी सचिव महेन्द्र भारती ने अनियमित भुगतानों को करते हुए अपने चहेतों को भरपूर फायदा पहुँचाने के आरोप लग रहे हैं।

मामला मेरी जानकारी में आया है. इसको विशेष महत्व देते हुए जल्द से जल्द इस पर जाँच करवायी जायेगी.

सुनील दुबे,

मुख्य कार्यपालन अधिकारी,

जिला पंचायत.

यह मामला मेरे संज्ञान में अभी ही आया है, इस पर जल्द ही कार्यवाही की जायेगी.

लोकेश नारनोरे,

मुख्य कार्यपालन अधिकारी,

जनपद पंचायत छपारा.