FB पर इंजीनियर ने खुद को बताया डॉक्टर. . .

शादी का झांसा देकर दिल्ली की लड़की से लिए 30 लाख

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। भोपाल के इंजीनियर युवक ने दिल्ली की एक चित्रकार लड़की से 30 लाख रुपए हड़पने का मामला सामने आया है। आरोपी ने रुपए लेने के बाद लड़की से दूरी बना ली तो वो डिप्रेशन में आ गई। इसके बाद लड़की के पिता उसे भोपाल लेकर आए और आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पुलिस ने आरोपी इंजीनियर को गिरफ्तार कर लिया है। पीड़ित लड़की चित्रकार है तथा उसके पिताजी की दिल्ली में दो फेक्ट्री हैं। 

भोपाल क्राइम ब्रांच से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने फेसबुक पर लड़की को दोस्त बनाकर उससे 30 लाख रूपये हड़पने वाले इंजीनियर अजय कुमार गालर को गिरफ्तार किया है। अजय गालर ने फेसबुक पर दिल्ली निवासी लड़की को फ्रेन्ड रिक्वेस्ट जून 2012 में भेजी थी। रिक्वेस्ट एक्सेप्ट होने पर अजय ने खुद को अनमैरिड और डॉक्टर बताया। उसने लड़की को बताया कि वो एम्स में नौकरी करता है। 

उसकी पोस्टिंग पहले दिल्लीदिल्ली, जयपुर में थी। वर्तमान में वो एम्स भोपाल में पोस्टेड है। अजय ने एफबी पर अपनी फोटो के स्थान पर दूसरे हेण्डसम लड़के की फोटो लगायी थी। धीरे-धीरे युवती से चेटिंग करके इमोशनल ब्लेकमेल किया तथा पारिवारिक परेशानी बताकर 2017 से 2019 के बीच करीब 30 लाख रूपए ले लिए। 

इस पूरे मामले में दिलचस्प पहलू यह है, कि लड़की द्वारा जब युवक के परिवारजन से फोन पर बात करने को कहा जाता था, तो अजय गालर द्वारा अपने मोबाइल पर वॉइस चेंजिग एप के माध्यम से युवती से स्वयं अपनी मां, बहन, भाभी तथा स्वयं के पिताजी की आवाज में स्वयं ही बात कर लेता था। अजय लड़की को यह भरोसा दिलाने में कामयाब हो गया था कि उसके परिवारवाले भी उसे पसंद करते हैं। इससे लड़की समझती रही कि आखिरकार भले ही देर हो अजय से उसकी शादी हो जाएगी। 

धीरे-धीरे आरोपी ने लड़की से 30 लाख रुपए अपने अकाउंट में ट्रांसफर करा लिए। इसके बाद उसने लड़की से दूरी बना ली। जब आरोपी ने लड़की से दूरी बना ली तो वो डिप्रेशन में आ गई। परिवार द्वारा पूछताछ करने पर उसने अपने एफबी फ्रेंड की पूरी करतूत बता दी। 

युवती के पिता उसे साथ लेकर भोपाल आए तथा क्राइम ब्रांच में सूचना दी। योजना के तहत आरोपी को डीबी मॉल बुलाकर लड़की से बातचीत कराई गई। इसी दौरान क्राइम ब्रांच द्वारा आरोपी को गिऱफ्तार कर लिया।

अजय ने आरकेडीएफ कॉलेज से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेषन से बीई की है। आरोपी द्वारा महिला कल्याण से संबंधित एक एनजीओ भी संचालित किया जाता है।