कई महीनों से बाधित है सिवनी का एक नाका

 

 

सिवनी का एक नाका क्षेत्र पिछले कई महीनों से यातायात के दृष्टि से बाधित बना हुआ है। इस स्तंभ के माध्यम से जिला प्रशासन का ध्यान मैं इसी ओर आकृष्ट कराना चाहता हूँ।

कटंगी नाका क्षेत्र में इन दिनों रेल के लिये पुल बनाया जा रहा है। रेलवे के पुल के निर्माण को देखते हुए इस संपूर्ण क्षेत्र में यातायात जमकर प्रभावित हो रहा है। सभी वाहनों को अत्यंत संकीर्ण मार्ग से होकर गुजरना पड़ रहा है। ऐसा लगता है जैसे ठेकेदार के द्वारा पुल के निर्माण को लेकर कोई ठोस योजना नहीं बनायी गयी और आनन-फानन में ही इसका निर्माण कार्य आरंभ करवा दिया गया।

सिवनी वासी भी चाहते हैं कि सिवनी में रेल यातायात शीघ्र अतिशीघ्र आरंभ हो शायद इसीलिये वे न चाहकर भी अत्यंत दुष्कर मार्ग से गुजर रहे हैं। ठेकेदार के द्वारा प्रमुख मार्ग को बंद करके डायवर्टेड मार्ग को ऐसी जगह पर निर्मित करवाया गया है जहाँ अत्यंत संकरी गलियों से होकर वाहनों को गुजरने के लिये मजबूर होना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि कोई चार पहिया वाहन यदि इस डायवर्टेड मार्ग पर आड़ा कुछ सेकेण्ड के लिये भी खड़ा हो जाता है तो लंबे जाम की स्थिति बन जाती है।

अभी बारिश के दौर से सिवनी गुजरा। बारिश के दौरान इस डायवर्टेड मार्ग पर फिसलन की स्थिति लंबे समय तक बनी रही जिसके कारण दो पहिया वाहन चालकों के साथ ही साथ सिर्फ साईकिल चालकों को ही नहीं बल्कि पैदल राहगीरों को भी बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा। शालेय विद्यार्थियों की यूनिफॉर्म भी इस कीचड़ के कारण गंदे हुए बिना नहीं रहे। चूँकि सिवनी वासियों के द्वारा रेल मार्ग आरंभ होने की प्रतीक्षा लंबे समय से की जा रही है इसलिये वे उफ तक नहीं कर रहे हैं लेकिन ठेकेदार को चाहिये था कि कम से कम डायवर्टेड मार्ग पर डामरीकरण ही कर दिया जाता जिससे लोगों की परेशानी कम हो जाती।

पुल के निर्माण कार्य की सुस्त रफ्तार को देखते हुए लगता नहीं कि यह शीघ्र ही पूर्ण हो सकेगा। ऐसे में जिला प्रशासन से अपेक्षा है कि उसके द्वारा एक बार इस स्थल का निरीक्षण अवश्य किया जाये और चूँकि आने वाले काफी दिनों तक डायवर्टेड मार्ग का उपयोग जारी रह सकता है इसलिये इस मार्ग को अविलंब डामरीकृत करवाया जाये ताकि लोगों को समस्याओं से निजात मिल सके।

सेहतर सनोडिया