किसानों को पांच दिन में मिलेंगे धान के पैसे

 

नहीं मिलें तो फोन करके बताएं : कमल नाथ

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। किसानों को धान का भुगतान न होने, खरीदी में गड़बड़ी और ओलावृष्टि का मुद्दा शुक्रवार को विधानसभा में उठा।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि पांच दिन में धान के पैसे का भुगतान किसानों को होगा। यदि न हो तो विधायक मुझे फोन करके बताएं। इसी तरह गेहूं खरीदी को लेकर नए केंद्र बनाए जा रहे हैं। कहीं कोई दिक्कत हो तो भी मुझे बताएं। ओले गिरने की सूचना मिली है। अधिकारियों को सर्वे के निर्देश दे दिए हैं। नुकसान की भरपाई सरकार करेगी।

विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, वरिष्ठ विधायक डॉ.नरोत्तम मिश्रा सहित अन्य विधायकों ने ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में ओले गिरने से रबी की फसलें खराब होने का मुद्दा उठाया। डॉ.मिश्रा ने कहा कि धान का भुगतान भी अभी तक किसानों को नहीं हुआ है। खरीदी भी नहीं की जा रही है। खरीदी केंद्र भी ऐसे बना दिए हैं, जिससे किसानों को परेशानी होगी।

इसका जवाब मुख्यमंत्री कमल नाथ ने दिया। उन्होंने कहा कि ओले जहां गिरे हैं, वहां सर्वे कराने के निर्देश अधिकारियों को दे दिए हैं। नुकसान के हिसाब से आर्थिक सहायता भी मुहैया कराई जाएगी। धान का भुगतान और खरीदी केंद्रों को लेकर तीन दिन पहले बैठक करके निर्देश दिए हैं कि पांच दिन में किसानों का भुगतान कर दिया जाए। यदि भुगतान न हो और सूचना मिले तो फोन करके मुझे बताएं। हम व्यवस्था को दुरुस्त करेंगे।

रायपुर में मिलेंगे शाह, सहायता की उठाएंगे बात : मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार प्रदेश में ऐतिहासिक अतिवृष्टि हुई है। आठ हजार करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हुआ हैै। केेंद्र सरकार से राहत पैकेज मांगा गया था। एक हजार करोड़ रुपए की मदद मिली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से इस मामले में चर्चा हुई है। हमारी कोशिश है कि मदद होगी। रायपुर में केंद्रीय गृहमंत्री के साथ एक बैठक में मुलाकात होगी। इस दौरान एक बार फिर इस विषय को रखेंगे।

 

———————

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *