प्राकृतिक तरीके से सर्दी से छुटकारा पाएँ . . 04

 

एक ह्यूमिडिफाइयर का उपयोग करें: अगर आपके घर में हवा बहुत सूखी है तो यह ठंडे के लक्षणों को बद्तर बना सकता है और वह ज्यादा वक्त के लिए रहेंगे। ह्यूमिडिफाइयर के उपुओग से हवा को नम रख सकते हैं,जिससे आपके नासिका मार्ग लूब्रिकेटेड रहेंगे और बलगम आसानी से निकल पाएगा। अपने श्वास की आसानी के लिए रात को ह्यूमिडिफाइयर चलाना चाहिए।

नियमित रूप से ह्यूमिडिफाइयर की सफाई होनी चाहिए। मोल्ड और फफूंदी नम वातावरण में आसानी से विकसित कर सकते हैं। हवा में नमी के लिए आप भी 2 कप आसुत जल को एक बर्तन में उबाल लें। ट्रेस दोष से बचने के लिए ताकि आपका जुकाम आंदोलनकारी ना हो जाए इसलिए आसुत जल का प्रयोग करें।

हाउस्प्लेंट्स प्राकृतिक हुमीदिफिएर्स के रूप में काम करते हैं। उनके फूल, पत्ते, और टहनी हवा में जल वाष्प छोड़ते हैं। वह हवा में कारबॉनडियाक्सिड और अन्य प्रदूषक को भी साफ करते हैं। अच्छे विकल्प जैसे आलो वेरा, बॅमबू पाम, वीपिंग फिग, चाइनीस एवरग्रीन और फिलोडेंडरों और द्राकएना की विभिन्न प्रजातियाँ शामिल हैं।

एल्डरबेरीका निचोड़ लीजिए: युरोपियन एल्डर बड़े व्यापक रूप से चिकित्सा में प्रयोग किया जाता है। यह संकुलन और सांस की बीमारी के अन्य लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं। एल्डरबेरी में अनुत्तेजक और आंटिवाइरल गुण है और वह जुकाम से लड़ने में मदद कर सकते हैं, और यह प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करता है। एल्डरबेरी का निचोड़ सिरप, विषमकोण और कैप्सूल पूरक रूपों में पोषण स्टोर और दवा दुकानों में पाया जाता है।

एल्डर फूल चाय बनाने के लिए 3-5 ग्राम सूखा एल्डर फूल को एक कप उबलते पानी में 10-15 मिनिट्स के लिए भिगो दें। फूलों को छान लें और दैनिक 3 बार चाय पिएं।

अपने डॉक्टर के साथ परामर्श के बिना एल्डरबेरी का प्रयोग एक लंबे समय तक ना करें। एल्डरबेरी लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए, क्योंकि इससे गर्भवती महिलाओं के लिए,आॅटाय्म्म्यून रोग के साथ लोगों के लिए,और निम्न रक्तचाप के साथ लोगों के लिए दुष्प्रभाव हो सकता है। जो लोग मधुमेह की दवा, जुलाब, रसायन चिकित्सा दवाओं, या इममूनॉसुपपरेससंत्स लेते हैं उन्हे भी एल्डरबेरी का उपयोग करने से पहले एक डॉक्टर के साथ परामर्श करना चाहिए। अपरिपक्व या कच्ची एल्डरबेरीस का प्रयोग न करें। वे जहरीले होते हैं।

(साई फीचर्स)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *