फिर बजे बाहूबली चौक में लट्ठ!

 

देर रात आताताईयों का अड्डा बन गया बाहुबली चौराहा

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (ंसाई)। शहर का बाहुबली चौराहा अब असामाजिक तत्वों का अड्डा बनता जा रहा है। पुलिस की गश्त के अभाव में देर रात मयजदों के द्वारा हंगामा किये जाने के अड्डे में बाहूबली चौराहा तब्दील हो चुका है। मंगलवार को देर रात एक बार फिर चौराहे पर गैंगवार का नज़ारा दिखायी दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार टॉप एण्ड टाउन के सामने रात लगभग दस बजे दो गुट आपस में उलझ गये। इस दौरान दोनों पक्षों के द्वारा एक दूसरे पर लट्ठों, हॉकियों से वार किये गये। आपसी मारपीट में एक पक्ष का एक युवक जमीन पर गिर गया तो दूसरे को आताताई बुरी तरह मारते नज़र आये।

किसी के द्वारा इसकी जानकारी पुलिस को दिये जाने के बाद डायल 100 मौके पर पहुँची और जमीन पर गिरे युवक को जिला चिकित्सालय ले जाया गया। इसकी जानकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को दिये जाने के बाद पुलिस का दस्ता मौके पर पहुँचा, तब तक उभय पक्ष वहाँ आतंक बरपाते रहे।

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार जिस तरह से मारपीट हो रही थी, उसे देखकर यही प्रतीत हो रहा था कि यह किसी हिन्दी थ्रिलर मूवी का कोई सीन फिल्माया जा रहा हो। सड़क के बीचों बीच जिस तरह से मारपीट हो रही थी, उसे देखकर वहाँ खड़े लोग कांप उठे।

लोगों का कहना था कि बाहुबली चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। इसके अलावा एक सप्ताह में इसके पहले भी दो बार यहाँ लट्ठ लेकर मारपीट की घटनाएं होने के बाद भी कोतवाली पुलिस के द्वारा चौराहे पर पुलिस की व्यवस्था नहीं किये जाने के कारण जरायमपेशा लोगो के हौसले पूरी तरह बुलंदी पर आ चुके हैं।

यहाँ के व्यापारियों का कहना है कि रात नौ बजे के बाद यहाँ बेकार खड़े युवकों के द्वारा शराब पीकर गाली गलौच किया जाना आम बात है। रात दस से बारह बजे के बीच यहाँ तेज रफ्तार मंें वाहन चलाकर मयजदों के द्वारा आतंक बरपाया जाता है। बाहुबली चौराहे से पुलिस कंट्रोल रूम की दूरी महज़ दो तीन सौ मीटर होने के बाद भी आतंक बरपाने वालों को इसका कोई खौफ दिखायी नहीं देता है।

इन पंक्तियों के लिखे जाने तक उभय पक्ष में कौन – कौन शामिल थे, इस बात की जानकारी नहीं मिल पायी है, किन्तु जिन दो युवकों को कपड़ों की तरह धुना गया है, उन दोनों की स्थिति गंभीर ही प्रतीत हो रही थी।

 

One thought on “फिर बजे बाहूबली चौक में लट्ठ!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *